in ,

कोरोना लॉकडाउन: योग मास्टर बताएंगे घर में रहकर चंद मिनटों में कैसे करें योग!

इस लेख में हम आपको ऐसे योगासनों के बारे में बताएंगे जो आप 5 से 15 मिनट में कर सकते हैं!

Yoga Mater teaching Yoga

ज से 6 साल पहले नरेश कुमार ने अपनी कॉर्पोरेट जॉब से एक ब्रेक लेने के लिए योग सीखना शुरू किया था। तब उन्हें बिल्कुल भी नहीं पता था कि योग उनके लिए उनके जीने का तरीका बन जाएगा। साल 2007 में इंजीनियरिंग के बाद MBA और फिर जर्नलिज्म में मास्टर्स करने वाले नरेश ने एक अच्छी-खासी एडवरटाइजिंग कंपनी से करियर की शुरूआत की।

द बेटर इंडिया से बात करते हुए उन्होंने बताया, “मैं अपनी कॉर्पोरेट लाइफ से थक गया था। मुझे लगने लगा था कि मेरी ज़िंदगी का जैसे कोई मकसद ही नहीं रह गया है। फिर साल 2014 में मुझे मेरे दोस्तों ने एक ब्रेक लेकर योग और मेडिटेशन करने की सलाह दी। उन्होंने समझाया कि शांत और संतुष्ट मन के लिए हमारे शरीर और दिमाग, दोनों का सेहतमंद रहना बहुत ज़रूरी है।”

नरेश ने जब योग करना शुरू किया तो इसके बाद कभी पीछे मुड़कर देखा ही नहीं। वह कहते हैं कि योग सिर्फ शरीर तक सीमित नहीं है यह आपके मन और दिमाग को भी छूता है। उन्होंने योग में एक सर्टिफिकेट कोर्स कर लिया और ट्रेनर बन गए।

Yogasana for begginers

उन्होंने अब तक बच्चों से लेकर बड़ों तक और सामान्य लोगों से लेकर कॉर्पोरेट जॉब करने वालों तक, बहुत से लोगों को योग सिखाया है। वह कहते हैं कि अन्य नौकरियों की तरह योग में भी एक अच्छा करियर हो सकता है। यह बस आप पर है कि आप अपना अभ्यास ज्यादा रखना चाहते हैं या फिर सिखाना ज्यादा चाहते हैं।

फ़िलहाल, नरेश ऑनलाइन कक्षाएं भी लेते हैं और उनके छात्रों में सिर्फ भारतीय नहीं बल्कि विदेशी भी शामिल हैं।

वह आगे कहते हैं, “अभी हम जिन परिस्थितियों में हैं, वह हमारी अपनी बनाई हुई हैं। क्योंकि हम रुकना ही नहीं चाहते। हमें हर चीज फ़ास्ट चाहिए, फ़ास्ट फ़ूड से लेकर फ़ास्ट टेक्नोलॉजी तक। चाहे फिर वह हमारी अपनी सेहत की कीमत पर हो या फिर पर्यावरण की।”

उनके मुताबिक, कोरोना वायरस की वजह से लोगों को अपने घरों पर रहने का जो मौका मिला है। उसे व्यर्थ नहीं जाने देना चाहिए। दिन भर सिर्फ COVID-19 की खबरें देखने की बजाय हमें इस वक़्त को अपनी जीवनशैली को बेहतर बनाने पर जोर देना चाहिए।

Teaching Yoga to differently abled people
Teaching Yoga to differently abled people

“जितनी शारीरिक क्रियाएं आप करते हैं, उतना ही सेहतमंद होते हैं। इसलिए घर पर रहकर कोई भी एक्सरसाइज़ या फिर योग ज़रूर करें। इसको करने में आपका ज्यादा वक़्त भी नहीं जाएगा और आप एकदम शांत और तरोताज़ा महसूस करेंगे,” उन्होंने आगे कहा।

हमने नरेश से कुछ योगासनों के बारे में जाना, जिन्हें किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं। आपको बस दिन में 10-15 मिनट निकालने हैं और बहुत ही आसान 5-6 योगासन करने हैं। लॉकडाउन के इस पीरियड में घर पर रहते हुए यह एक अच्छी आदत बना सकते हैं। क्योंकि अगर आदत हो जाएगी तो बाद में भी आपको इसे करने में परेशानी नहीं होगी।

1. बालासन:

Yogasana for beginners

नरेश बताते हैं कि यह योगासन करना जितना आसान है, उतने ही इसके फायदे हैं। क्योंकि इसमें आप एक बच्चे की तरह वज्र आसन लेकर हाथों और शरीर को आगे की ओर झुकाते हैं। यह आपके दिमाग और शरीर, दोनों को आराम देता है और आपके दिन भर के तनाव को दूर करने में मददगार है। इस योगासन से कमर की मांसपेशियों को भी आराम मिलता है।

2. मलासन:

Corona Lockdown Workout

मलासन की मुद्रा में बैठने से हमारे घुटनों, पैरों और एड़ियों पर जोर पड़ता है। साथ ही, पेट और कमर की मांसपेशियों में खिंचाव होता है। इस तरह से एक ही आसन से हमारे शरीर के कई अंगों का व्यायाम एक साथ हो जाता है।

ध्यान रखें कि हर एक योगासन के दौरान आप गहरी सांस लेकर छोड़ते रहें।

3. पार्श्व उर्ध्व हस्तासन:

Yoga and Meditation

नरेश कहते हैं कि इस योगासन को करने से हमारा बॉडी पोस्चर ठीक होता है। क्योंकि आजकल हमारा ज़्यादातर समय कुर्सी पर बैठकर लैपटॉप से काम करते हुए बीतता है। लेकिन दिन में ज्यादा कुछ नहीं अगर हम 5-7 मिनट यह आसान करते हैं तो इससे हमारे शरीर में फुर्ती बढ़ती है। रक्तसंचार सही से होता है और थकान से निजात मिलती है।

आपका स्टैमिना बढ़ता है और रात को नींद न आने की समस्या भी धीरे-धीरे कम हो जाती है।

4. आञ्जनेयासन:

Yoga keeps you calm and energetic

यह योगासन सूर्य नमस्कार का भी हिस्सा है। इस योगासन को करते समय ध्यान रहे कि आपका घुटना और पैर दोनों एक ही लाइन में हो। इस योगासन को करने से आपकी जांघें, पैरों की पीड़ियाँ स्ट्रेच होती हैं। साथ ही, जैसे-जैसे आप अपने हाथ ऊपर की तरफ लेकर जाते हैं आपकी छाती भी खुलती है।

यह योगासन खिलाड़ियों के लिए भी काफी अच्छा है। इसके बाद आपको विरभद्रासन योग करना चाहिए।

5. वीरभद्रासन 1:


Workout amid Corona Lockdown

इस योगासन को करने के लिए आपको पैर, हाथ और सीने का इस्तेमाल करना होता है। इससे आपके शरीर का बैलेंस बनता है और साथ ही, आपका स्टैमिना बढ़ता है। पैरों में लचीलापन आता है और यह आपकी कमर-दर्द की शिकायत को भी दूर करता है।

6. जठर परिवर्तनासन:

Yogasana for beginners

यह आसन आपकी रीढ़ की हड्डी को लचीला बनता है। जिन लोगों को दिन के दौरान थकान महसूस होती है उनके लिए यह आसन बहुत ही लाभकारी है। नरेश कहते हैं कि यह कमरे के निचले भाग की अकड़न को कम करता है। साथ ही, इससे पेट की मांसपेशियों को राहत मिलती है।

नरेश कहते हैं कि हर एक आसन को आप 15 सेकंड्स से 30 सेकंड्स तक करें और इसी क्रम में करें। यह सभी योगासन उन लोगों के लिए हैं जिन्होंने पहले कभी कोई एक्सरसाइज़ या फिर योग नहीं किया।

यह भी पढ़ें: कोरोना हीरोज़: गाड़ी को एम्बुलेंस बना, गाँवों के मरीज़ों को अस्पताल पहुँचा रहा है यह शख्स!

योगासन के बारे में अधिक जानने के लिए आप नरेश कुमार को yuvyoga@gmail.com पर ईमेल कर सकते हैं। साथ ही, अगर आप फेसबुक या इंस्टाग्राम पर लाइव सेशन करना चाहते हैं, तो आप उन्हें मेल कर बता सकते हैं!

संपादन – अर्चना गुप्ता


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

रिटायर्ड पुलिस अफसर ने 500+ किसानों को जोड़ा जैविक खेती से!

आधी लागत पर मिट्टी और वेस्ट से बनी ये इमारतें हैं ज्यादा सस्ती और ठंडी