Search Icon
Nav Arrow

मुंबई के डॉक्टरों ने शुरू की कोरोना-हेल्पलाइन, बिना किसी फीस के देंगे आपके सभी सवालों के जवाब!

हेल्पलाइन का मक़सद लोगों के भीतर घर करने वाले डर और आशंकाओं को कम करना है। इस हेल्पलाइन पर सुबह 8 से रात के 11 बजे तक डॉक्टर कॉल पर उपलब्ध रहेंगे।

Advertisement

कोरोना वायरस या कोविड-19 का आंतक चारो ओर फैला हुआ है। ऐसे में, हममें से कई लोगों के सामने वर्क फ्रॉम होम यानी घर से काम करने का विकल्प मौजूद है। लेकिन मेडिकल या चिकित्सा-कर्मियों के लिए ऐसा कोई विकल्प नहीं है। ऐसे में, मुंबई में डॉ. तुषार शाह के नेतृत्व में डॉक्टरों के एक समूह ने टेलीफोनिक हेल्पलाइन शुरू की है। हेल्पलाइन का मक़सद लोगों के भीतर घर करने वाले डर और आशंकाओं को कम करना है। इस हेल्पलाइन पर सुबह 8 से रात के 11 बजे तक डॉक्टर कॉल पर उपलब्ध रहेंगे।

 

द बेटर इंडिया ने इस पहल की शुरूआत करने वाले डॉक्टरों में से एक, डॉ. एस पंडित से बात की। उन्होंने कहा, “हमने मार्च में कुछ समय पहले यह शुरू किया था और हमें हमें काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली। हमारे फोन की घंटी लगातार बज रही है। हम सभी डॉक्टर्स, लोगों की मदद करने के लिए अलग-अलग समय स्लॉट पर उपलब्ध हैं। ”

 

यह पूछे जाने पर कि उनसे किस तरह के सवाल पूछे जाते हैं, उन्होंने हमें बताया, “कोविड-19 (कोरोना वायरस) को लेकर लोगों में इतनी दहशत है कि वे सबसे पहले आश्वस्त होना चाहते हैं। वे अपने लक्षणों पर चर्चा करते हैं और हमसे पूछते हैं कि उन्हें क्या करना चाहिए। हर केस के हिसाब से, हम उनका मार्गदर्शन करते हैं कि क्या करना है।”

 

कुछ ज़रूरी बातें

यह एक निःशुल्क सेवा है और लोगों को अपना नाम और उम्र, व्हाट्सएप के माध्यम से उस डॉक्टर के पास भेजना है जिनसे वे बात करना चाहते हैं। अगर व्हाट्सएप के माध्यम से मसला हल किया जा सकता है, तो डॉक्टर वहीँ पर इसे हल कर देते हैं।

ऐसा करने का एक कारण अस्पतालों पर तनाव को कम करना है, ताकि जरूरतमंद लोगों को इलाज के लिए प्राथमिकता मिले। यदि टेस्ट की ज़रूरत होती है तो नज़दीकी मेडिकल सुविधा के लिए मार्गदर्शन भी दिया जाता है।

डॉक्टर आपको स्वच्छता, सेल्फ आइसोलेशन यानी खुद को एकांत में रखने और अन्य सुरक्षा प्रक्रियाओं से संबंधित निर्देशों के बारे में भी बताते हैं।

 

उपलब्ध डॉक्टरों के फोन नंबर और स्लॉट समय नीचे दिए गए हैं –

सुबह 8 बजे से दोपहर तक

डॉ तुषार शाह – 9321469911
डॉ एम भट्ट  – 9320407074
डॉ डी दोशी  – 9820237951
डॉ डी राठौड़ – 8879148679
डॉ आर ग्वालानी – 8779835257
डॉ डी कंसारा – 8369846412

 

दोपहर से शाम 4 बजे तक

डॉ जी कामथ – 9136575405
डॉ एस मांगलिक –  9820222384
डॉ जे जैन – 7021092685
डॉ ए ठक्कर – 9321470745
डॉ एल भगत – 9820732570
डॉ एन शाह – 9821140656
डॉ एस फांसे – 8779328220
डॉ जे शाह – 9869031354

 

Advertisement

शाम 4 से 8 बजे तक

डॉ एन ज़वेरी – 9321489748
डॉ एस अंसारी – 7045720278
डॉ एल केडिया – 9321470560
डॉ बी शुक्ला – 9321489060
डॉ एस हलवाई – 9867379346
डॉ एम कोटियन – 8928650290

 

रात 8 से 11 बजे तक

डॉ एन कुमार – 8104605550
डॉ पी भार्गव – 9833887603
डॉ आर चौहान – 9892135010
डॉ बी खरात – 9969471815
डॉ एस धुलेकर – 9892139027
डॉ एस पंडित – 9422473277

 

 

डॉ. पंडित ने कोविड-19 के प्रसार पर रोक लगाने के लिए निम्नलिखित दिशा-निर्देशों का पालन करने का भी आग्रह किया है

1) अल्कोहल-आधारित हैंड सैनिटाइज़र या साबुन और पानी से समय-समय पर अच्छी तरह हाथ साफ करें। ध्यान दें कि साबुन और पानी का उपयोग करना आपका पहला विकल्प होना चाहिए। कम से कम 20 सेकेंड तक हाथ धोएं। घर से बाहर निकलते समय हैंड सैनिटाइज़र साथ रखें।

2) खांसने या छींकने वाले किसी भी व्यक्ति से बात करते समय उसके और खुद के बीच कम से कम एक मीटर (या 3 फीट) की दूरी बनाए रखें।

3) खांसी या छींक आने पर अपने मुंह और नाक को अपनी कोहनी से ढ़कें या टिशू का इस्तेमाल करें और इस्तेमाल किए गए टिशू का फौरन निपटान करें। इसे टेबल पर ना रखें बल्कि फौरन कूड़ेदान में डालें।

4) अपने चेहरे को छूने से बचें।

5) जहां तक संभव हो, सतहों और वस्तुओं को हाथ से छूने से बचें। यहां कुछ उदाहरण हैं। लिफ्ट से बचें और इसके बजाय सीढ़ियों का उपयोग करें। सीढ़ियों का उपयोग करते समय रेलिंग को ना छूएं। रिक्शा के लिए छुट्टे पैसे रखें।

6) मास्क का इस्तेमाल तभी करें जब आपको खांसी हो या फिर आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ हो जिन्हें खांसी हो रही है।

घर के अंदर रहें और सुरक्षित रहें!

मूल लेख – विद्या राजा

संपादन – मानबी कटोच

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon