in , ,

कोरोना वायरस अलर्ट: हाथों को धोने का सही तरीका, ताकि बच सकें इंफेक्शन से!

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सबसे ज़रूरी है कि हम बार-बार साबुन से अपने हाथ धोएं लेकिन कुछ जरूरी बातें ध्यान में रखकर!

म सब जानते हैं कि Covid-19 पूरे विश्व में फ़ैल रहा है और अब इसे ‘महामारी’ घोषित कर दिया गया है। इस वजह से हर जगह असंतोष और डर महसूस किया जा सकता है। भारत में भी कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले हर दिन बढ़ रहे हैं, और हमें ध्यान रखना होगा कि इसके लक्षण दिखने में दो हफ्ते का समय लगता है। इस परिस्थिति में ज़रूरी है कि हम हर संभव प्रयास करें, जिससे हम खुद भी सुरक्षित रहें और दूसरों को भी सुरक्षित रख सकें।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए सबसे ज़रूरी है कि हम बार-बार साबुन से अपने हाथ धोएं!

दिन भर में आप अलग-अलग जगहों पर जाते हैं और लोगों से मिलते हैं। ऐसे में हमारे हाथ बहुत सी चीजों को छूते हैं और हमारे हाथों पर न जाने कितने जीवाणु आ जाते हैं। अगर आपके हाथ गंदे हैं तो इन्हें साबुन और पानी से धोएं।

 

हाथों को अच्छे से धोने का तरीका:

हाथों को साबुन से सिर्फ धोना नहीं है बल्कि उचित तरीके से धोना है ताकि सभी जीवाणु मर जाएं। सबसे पहले आपने हाथों में अगर कोई अंगूठी, ब्रेसलेट आदि पहना हुआ है तो इसे निकाल दें।

नल खोलें और अपने हाथों को भिगोएं।

Coronavirus in India
Wet your hands completely.

ज्यादा से ज्यादा स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए एक पंप से लिक्विड हैंडवॉश का इस्तेमाल करें। पर्याप्त मात्रा में हैंडवॉश लें ताकि आपके हाथ अच्छे से धुल जाएं। सामान्य तौर पर दो पंप यानी कि 3 मिली हैंडवॉश पर्याप्त रहेगा।

Coronavirus Update
Use enough soap for both hands.

सिर्फ पानी से हाथ न धोएं, साबुन या हैंडवॉश का इस्तेमाल करना बहुत ज़रूरी है। हैंडवॉश हाथ में लेने के बाद अपनी दोनों हथेलियों को आपस में रब करें/रगड़ें। फिर एक हथेली को दूसरे हाथ के ऊपर अच्छे से रगड़ें और फिर उँगलियों के बीच में से साफ़ करें। अब दूसरे हाथ को भी ऐसे ही साफ़ करें।

Coronavirus Update India
Interlace your fingers and scrub.

अब दोनों हाथों के अंगूठों को साफ़ करें, जैसे कि तस्वीर में दिखाया गया है। अब अपने एक हाथ की उँगलियों को साथ में लाकर दूसरे हाथ की हथेली को रोटेशनल मोशन में साफ़ करें।

Promotion

इस प्रक्रिया को दोनों हाथों पर 20- 20 सेकंड के लिए करें। अब हाथों को पानी से अच्छी तरह से धोएं और एक साफ़ तौलिया से पोंछ लें।

Remember to rub your thumbs, after this, Rub your palms in a rotational motion. Make sure your towel is clean and dry.

अगर आप सिर्फ पानी से ही अपने हाथों को धो रहे हैं तो ध्यान रहे कि आप हाथों को अच्छे से पोंछने के बाद किसी अल्कोहल-बेस्ड सैनीटाइज़र का इस्तेमाल करें, जिसमें कम से कम 60% अल्कोहल की मात्रा हो।

इसके साथ ही, एक सलाह यह भी कि आप अपने हाथों के नाख़ून काट लें ताकि इनमें कोई गंदगी और जीवाणु इकट्ठे न हों।

Coronavirus WHO
Guidelines to wash your hands by World Health Organization

 

कब धोएं अपने हाथ:

इसका सबसे आसान जवाब यह है कि आप बार-बार अपने हाथ धोएं। लेकिन हम आपको बता रहें हैं कि आपको कब-कब ज़रूरी रूप से अपने हाथ धोने हैं:

  • खाना खाने से पहले और बाद में
  • खाना बनाने से पहले, बनाते समय, और बनाने के बाद
  • घर पर किसी बीमार व्यक्ति की देखभाल करते समय हर बार अपने हाथों को धोने का ध्यान रखें
  • शौच जाने के बाद
  • बच्चों के डायपर बदलने या फिर उनके शौच के बाद उन्हें साफ़ करने के बाद, आप अपने हाथ अच्छे से धोएं
  • अगर आप खांस रहे हैं या फिर आपको छींक आई है तब भी अपने हाथ धोएं
  • अगर आप किसी भी तरह से जानवरों के संपर्क में आए हैं
  • पालतू जानवरों को खाना खिलाने या फिर उनके साथ खेलने के बाद
  • कूड़ा-कचरा उठाने के बाद
  • अगर आप लगातार अपने हाथों को धोते रहेंगे तो इससे जीवाणु नहीं फैलेंगे और आप स्वस्थ रहेंगे

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी की गई इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि कैसे आपको अपने हाथों को धोना है:

मूल लेख: सेरेन सारा ज़ुकारिया  

संपादन- अर्चना गुप्ता


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है. निशा की कविताएँ आप https://kahakasha.blogspot.com/ पर पढ़ सकते हैं!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

How to make compost

हर महीने गीले कचरे से 200 किलो खाद बना रही है यह सोसाइटी!

‘रजनीकांत फैन ग्रुप’ बना ‘सिविल सर्विस गुरु’, फिर हुआ UPSC ई-कोचिंग का कारवां शुरू