in ,

एसिड पीड़िता ने अपने नए जीवन की शुरुआत की तो पूरे सोशल मीडिया ने दिया उनका साथ!

प्यार – एक ऐसी भावना जिसे हर कोई अपने जीवन में पाना चाहता है। पर किसी-किसी के लिए इस शब्द के मायने उस वक़्त बदल जाते है, जब प्यार करने वाले व्यक्ति को इस शब्द का अर्थ ही न पता हो। जब आपसे प्यार करने का दावा करने वाला शख्स ही आपकी ज़िन्दगी नफ़रत से भर देता है तब प्यार के हर भाव से नफ़रत होना स्वाभाविक हो जाता है।

पर हाल ही में हुमंस ऑफ़ इंडिया नामक एक फेसबुक पेज पर एक नवविवाहिता की तस्वीर सामने आई, जो प्यार की परिभाषा नए सिरे से लिख रही है।

 

इस युवती का चेहरा पूरी तरह एसिड से जला दिया गया था। युवती का कहना है कि उनके एक लड़के के एकतरफा प्यार को ना कहने के बाद, उस लड़के ने बदला लेने के लिए उनके साथ ये घिनौना अपराध किया।

Promotion

इस हादसे के बाद इस युवती का चेहरा पूरी तरह बिगड़ने के बाद भी, एक युवक सामने आया और इनके सामने शादी का प्रस्ताव रखा। इस युवक का मानना है कि चेहरे की सुन्दरता तो अस्थायी है, जो हमेशा कायम रहता है वह है एक सुन्दर मन। यह पोस्ट सोशल मीडिया पर अब वायरल हो चूका है। कमेंट्स में लोग इस जोड़े की जम कर तारीफ़ कर रहे है और इन्हें अपने आगामी जीवन के लिए ढेरों शुभकामनायें भी मिल रहीं हैं।

भारत में हर साल सैकड़ों लड़कियों के साथ ऐसा होता है। पूरे विश्व में एसिड अटैक के मामले सबसे ज्यादा भारत में ही होते है, जिसमें से 85% हमले केवल महिलाओं पर किये जाते है। भारत में 2011 में जहाँ एसिड अटैक के 83 केस दर्ज हुए, वहीं 2015 में यह संख्या बढ़कर 349 हो गयी। इनमें से 45% हमले उन लड़कों द्वारा किये गए है, जिन्हें या तो प्यार में ठुकराया गया था, या उनके अश्लील इरादों को नकार दिया गया था।

यदि आप ऐसे किसी व्यक्ति को जानते है, जो एसिड अटैक जैसे भयानक अपराध का शिकार हो चुके है, तो उनकी मदद करने के लिए छाँव फाउंडेशन से संपर्क कर सकते है।

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें contact@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter (@thebetterindia) पर संपर्क करे।

शेयर करे

Written by मानबी कटोच

मानबी बच्चर कटोच एक पूर्व अभियंता है तथा विप्रो और फ्रांकफिंन जैसी कंपनियो के साथ काम कर चुकी है. मानबी को बचपन से ही लिखने का शौक था और अब ये शौक ही उनका जीवन बन गया है. मानबी के निजी ब्लॉग्स पढ़ने के लिए उन्हे ट्विटर पर फॉलो करे @manabi5

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

जन्मतिथि विशेष : मिर्ज़ा ग़ालिब की कुछ-सुनी अनसुनी शायरी और उनके पीछे का दर्द!

इस महिला ने व्हाट्स अप पर इनकी अश्लील अफवाह फैलाने वाले से अनाथ आश्रम में रु.25000 दान करवाया