in ,

कनाडा की बर्फ में भंगड़ा करके पूरी दुनिया में अपना रंग जमा रहे है ये भारतीय युवक!

भारत और भारत की संस्कृति हमेशा से पूरी दुनिया को अपनी ओर खींचती आई है। हमारी विविधता में ही हमारी ताकत छुपी हुई है। फिर चाहे वो अलग अलग भाषाएँ हो, त्यौहार हो या फिर कला। भारत के हर प्रदेश की अपनी एक अलग संस्कृति है जो यहाँ रहने वालो को ही नहीं बल्कि विदेशियों को भी मंत्रमुग्ध कर देती है। यूँ तो हर प्रदेश अपने आप में अनूठा है पर जब मौज मस्ती और नाच गाने की बात होती है तो सबसे पहले नाम आता है पंजाब का। पंजाब के भंगड़ा में वो थरकन है कि कोई भी अपने आपको नाचने से रोक नहीं पाता है। और पंजाबी चाहे जहाँ भी रहे अपनी खुशमिजाजी और भंगडे से लोगो का दिल जीत ही लेते है।

ऐसे ही कुछ पंजाबी युवाओं का ग्रुप है’ मैरीटाइम भंगड़ा ग्रुप‘, जो कनाडा में रहने वाले पंजाबी युवाओं ने मिलकर बनाया है। इस ग्रुप के भंगडे को देखकर पूरी दुनिया झूम रही है।

%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a4%a1%e0%a4%bc%e0%a4%be

हाल ही में आये उनके एक विडियो में ये सभी युवा भंगड़ा करते-करते बर्फ से ढकी हुई सड़के साफ़ कर रहे है। इस विडियो को अब तक 10 लाख से भी ज्यादा लोग देख चुके है और इसे फेसबुक पर 25000 से भी ज्यादा लोगो ने साझा किया है।

 

इस विडियो में तीन कलाकार पहले तो एक पंजाबी धुन पर भंगड़ा करते है और फिर अचानक अंग्रेजी गाना ‘सिया’स चीप थ्रिल्स’ बजने लगता है। पर इस पर भी ये तीनो उतने ही मस्त होकर भंगड़ा करते है जैसे वे पंजाबी गाने पे करते है।

मनोरंजन करने के साथ-साथ ये ग्रुप लोगो को सामाजिक कार्यो में अपना योगदान करने के लिए भी प्रेरित करता है। विडिओ के साथ साथ किसी अच्छे काम के लिए योगदान देने का भी लिंक जोड़ा जाता है।

ऐसे युवाओं की वजह से ही हम गर्व से कह सकते है कि हमारा भारत और यहाँ की संस्कृति है “सारे जहाँ से अच्छा”।

 

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें contact@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter (@thebetterindia) पर संपर्क करे।

शेयर करे

Written by मानबी कटोच

मानबी बच्चर कटोच एक पूर्व अभियंता है तथा विप्रो और फ्रांकफिंन जैसी कंपनियो के साथ काम कर चुकी है. मानबी को बचपन से ही लिखने का शौक था और अब ये शौक ही उनका जीवन बन गया है. मानबी के निजी ब्लॉग्स पढ़ने के लिए उन्हे ट्विटर पर फॉलो करे @manabi5

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

छत्तीसगढ़ के इस अंग्रेजी मीडियम स्कूल की फीस है बस एक पौधा!

हर एक पेड़ को लोहे की कीलो और इश्तहारो से मुक्ति दिला रहे है अहमदाबाद के युवा!