Search Icon
Nav Arrow

डायबिटीज़ के मरीज़ भी खा सकते हैं चावल की यह नई किस्म, आज ही खरीदें!

इस चावल में साधारण सफेद चावल की तुलना में 50% कम कार्ब्स हैं!

Advertisement

डायबिटीज़ के मरीज़ों को अक्सर चावल न खाने की सलाह दी जाती है ताकि उनका शुगर लेवल ठीक रहे। इस वजह से बहुत से लोगों को अपनी डाइट से चावल हटाना पड़ता है और यह करना हर किसी के लिए आसान नहीं है।

हमारे देश के खान-पान में चावल बहुत महत्वपूर्ण है और देश के बहुत से राज्यों के लोगों का यह मुख्य भोजन है। इसलिए अक्सर लोगों का खाना बिना चावल खाए पूरा नहीं होता। लेकिन अब चावल की एक किस्म ऐसी है जो खासतौर पर डायबिटिक मरीज़ों के लिए उगाई जा रही है।

जी हाँ, चावल की यह किस्म स्वादिष्ट होने के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है।

डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए फायदेमंद हैं यह चावल:

Advertisement
  • BeFach ने सोना मसूरी चावल की एक हाइब्रिड किस्म ईजाद की है, जिसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI) लेवल कम है।
  • सफेद चावल की ज़्यादातर किस्मों का GI लेवल 70-90 के बीच में होता है। लेकिन इस डायबिटीज़- फ्रेंडली सफेद चावल की GI वैल्यू 51.5 है।
  • साधारण सफेद चावल की तुलना में इसमें 50% कम कार्ब्स होते हैं।
  • BeFach तेलंगाना के 20 से ज्यादा किसानों के साथ काम कर रहा है, तो जब आप यह चावल खरीदते हैं तो आपकी ये खरीदारी ग्रामीण किसानों को भी सशक्त बनाने में भूमिका निभाती है।

आज ही यह चावल खरीदने के लिए यहाँ पर क्लिक करें!

मूल लेख: तन्वी पटेल

संपादन-अर्चना गुप्ता


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon