in

कॉल ड्राप और खराब नेटवर्क से हैं परेशान? आज ही करें TRAI में शिकायत!

TRAI ने एक मोबाइल एप्लीकेशन भी जारी की है, जिसमें आप कॉल ड्रॉप होने पर अपने खराब नेटवर्क ज़ोन को मार्क कर सकते हैं!

सोचिए कि आपको किसी ज़रूरी इंटरव्यू के लिए कॉल करनी है और मात्र 20 मिनट का समय है। आप एक ऐसी जगह पर जाकर कॉल करने बैठे हैं, जहां शांति है ताकि बीच में कोई परेशानी न हो। लेकिन फिर भी आपकी वह इंटरव्यू कॉल एक-डेढ़ घंटे तक खींचती है और आपको इस दौरान कम से कम 10 बार कॉल करनी पड़ी है।

वजह? कॉल ड्राप!

जी हाँ, बहुत बार मोबाइल नेटवर्क की वजह से आपको ज़रूरी कामों में देरी हो जाती है।

तो इस बारे में क्या किया जाए?

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि अगर ग्राहकों को बहुत ज्यादा कॉल ड्राप और खराब मोबाइल नेटवर्क की वजह से परेशानी झेलनी पड़ रही है, तो वे क्या कर सकते हैं।

अब ग्राहक इस बारे में टेलीकॉम कंज्यूमर कंप्लेंट मॉनिटरिंग सिस्टम (CCMS) में शिकायत कर सकते हैं। यहाँ पर जानिए आपको क्या करना है:

1. सबसे पहले CCMS पेज पर लॉग इन कीजिए और ड्राप डाउन मेन्यू में अपना सर्विस प्रोवाइडर, राज्य और जिले की जानकारी चुनिए।

2. इन सब जानकारियों को भरने के बाद, एक नया बॉक्स खुलेगा, जिसमें कस्टमर केयर मोबाइल नंबर और ईमेल होगा, जहाँ पर आप शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

3. हमेशा ध्यान रखें कि सबसे पहले आप अपने सर्विस प्रोवाइडर को शिकायत करें। अगर किसी वजह से वहां पर आपकी समस्या का समाधान नहीं हुआ है तब CCMS में शिकायत करें।

4. अपने सर्विस प्रोवाइडर को शिकायत करने के बाद, कंप्लेंट आईडी (नंबर) अपने पास रखें क्योंकि इसकी ज़रूरत आपको बाद में पड़ सकती है।

5. अलग-अलग शिकायत का निदान करने के लिए अलग-अलग समय सीमा होती है: फॉल्ट रिपेयर, सर्विस में अवरोध, और सेवा बंद हो जाना- इन सब शिकायतों पर ज्यादा से ज्यादा 3 दिनों में काम हो जाना चाहिए।

6. दूसरी शिकायतों के लिए ज्यादा से ज्यादा 7 दिन की समय सीमा है और जिन समस्याओं की समय सीमा निर्धारित नहीं है उनके लिए 3 दिन लगने चाहिए।

कॉल ड्रॉप के लिए शिकायत:

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया ने TRAI MyCall के नाम से एक मोबाइल एप्लीकेशन जारी की है, जो आप प्लेस्टोर या फिर एपस्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। TRAI MyCall एक यूजर फ्रेंडली एप्लीकेशन है, वॉइस कॉल मॉनिटरिंग के लिए। इस एप्लीकेशन को डाउनलोड करके, आप अपनी हर एक कॉल के बाद रियल टाइम फीडबैक दे सकते हैं।

इससे TRAI को एक रियल टाइम डाटा मिलेगा जिससे कि वे टेलीकॉम सर्कल को समझ सकते हैं और उन्हें पता चलेगा कि कहाँ नेटवर्क में समस्याएं हैं और काम करने की ज़रूरत है। इस डाटा को टेलीकॉम कंपनियों के साथ भी साझा किया जाता है जिससे कि उन्हें अपने नेटवर्क की क्वालिटी पर काम करने में मदद मिले। TRAI आपका डेटा गुप्त रखता है।

एप्लीकेशन की खासियत:

  • इससे ग्राहक TRAI को रियल टाइम वॉइस क्वालिटी रेटिंग दे सकते हैं।
  • जब कॉल ड्रॉप होती है तो ग्राहक तुरंत खराब नेटवर्क ज़ोन को मार्क कर सकते हैं।
  • आप फ़ोन कॉल की अन्य जानकारी भी दे सकते हैं जैसे कि बैकग्राउंड में शोर आना, आवाज़ पहुँचने में देरी आदि।
  • इससे टेलीकॉम अथॉरिटी को भारतीय टेलीकॉम कंपनियों की परफॉरमेंस मॉनिटर करने और फैसले लेने में मदद मिलेगी।

मूल लेख: विद्या राजा

संपादन – अर्चना गुप्ता


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

‘डेली इनकम मॉडल’: जानिए क्या है इस लखपती किसान की कमाई का राज़!

आदिवासी पहनावे को बनाया फैशन की दुनिया का हिस्सा! हाथ की ठप्पा छपाई ने किया कमाल