in ,

बढ़ते गैस के दाम कर रहे हैं परेशान तो घर में ही लगा लीजिए बायोगैस प्लांट!

किफायती होने के साथ-साथ, बायोगैस हवा से हल्की होने के कारण किसी भी तरह के विस्फोटक से सुरक्षित भी रहती है!

कुछ दिन पहले, भारत में सरकारी कंपनियों ने एलपीजी गैस सिलिंडर के दाम में 144. 5 रुपये की बढ़ोतरी की है। वैसे पिछले छह सालों में गैस के दामों में काफी बढ़ोतरी हुई है।

इंडियन ऑइल कंपनी एक दिन में 30 लाख इंडेन सिलिंडर सप्लाई करती है। उनका 14. 2 किग्रा का गैस सिलिंडर अब 858. 5 रुपए का हो गया है। मुंबई में सिलिंडर की कीमत 145 रुपये बढ़ी है, जबकि कोलकाता में 149 रुपए और चेन्नई में 147 रुपए।

आप गैस सिलिंडर पर इतना ज्यादा खर्च नहीं करना चाहते तो आप इसके बदले एक सस्ता, सुरक्षित और पर्यावरण के अनुकूल विकल्प चुन सकते हैं- बायोगैस प्लांट।

बायोगैस, किचन से निकले फ़ूड वेस्ट और जैविक हरे कचरे (एग्रो-वेस्ट) से निकलने वाली कार्बन डाई ऑक्साइड, मीथेन और ऑक्सीजन जैसी गैसों का मिश्रण है।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

Source: Flickr

 

द बेटर इंडिया ने एलपीजी और बायोगैस के बीच का फर्क समझने और अन्य ज़रूरी पहलुओं पर चर्चा करने के लिए पीपल वेस्ट मैनेजर्स के फाउंडर हर्षवर्धन एर्रा से बात की।

“एलपीजी से जो ब्यूटेन गैस निकलती है, वह हवा से भारी होती है और इस वजह से यह एक्सप्लोसिव/विस्फोटक होती है। बायो-डाइजेस्टर की मदद से जैविक कचरे से बनी मीथेन गैस, हवा से हल्की होती और इस वजह से यह किसी भी तरह के विस्फोटक से सुरक्षित रहती है,” उन्होंने बताया।

 

 

पर्यावरण संरक्षण पर जोर डालते हुए वह कहते हैं, “गीले कचरे से निकलने वाली मीथेन गैस, ओज़ोन परत के ह्रास (डिप्लीशन) का कारण है। ऐसे में, अगर हम इसका उपयोग कुकिंग के लिए करें तो हम पर्यावरण को बचाने में योगदान दे सकते हैं।”

पीपल वेस्ट मैनेजर्स कंपनी, बायो-डाइजेस्टर में गीले कचरे की प्रोसेसिंग करके लोगों की मदद कर रही है, क्योंकि इससे खाना पकाने की लागत में 80% तक की कटौती होती है।

कैसे लगाएं बायो-डाइजेस्टर:

वैसे तो डाइजेस्टर निजी स्तर पर भी लगाया जा सकता है, लेकिन चार सदस्यों वाले परिवार के लिए जितनी गैस लगेगी उसके लिए लगभग 5 किलो कचरे की ज़रूरत होगी। ऐसे में, हर्षवर्धन के मुताबिक एक सामुदायिक बायो-डाइजेस्टर लगवाना बेहतर तरीका है।

एक सामान्य बायोगैस प्लांट 300 ग्राम गैस का उत्पादन करता, जब आप डाइजेस्टर में 5 किलो जैविक कचरा डालते हैं। बहरहाल, एक सामान्य भारतीय परिवार रोज़मर्रा आधे किलो या उससे थोड़ा-सा ज्यादा कचरा ही उत्पन्न करता है।

Promotion
Banner

वह आगे बताते हैं कि अगर आपके समुदाय में 500 परिवार हैं और हर रोज़ उनके यहाँ से आधा-आधा किलो गीला कचरा आता है तो उनके लिए बायोगैस प्लांट सेट-अप करने की कीमत लगभग 25 लाख रुपये होगी। लेकिन इस लागत को तीन साल से भी कम वक्त में वसूल किया जा सकता है।

जगह और बायो-डाइजेस्टर चुनें:

बायोडाइजेस्टर चुनें। प्लांट की क्षमता और उसके साथ आने वाले सामान के आधार पर इसकी लागत 10 हज़ार रुपये से लेकर 25 लाख रुपये तक हो सकती है। हर्षवर्धन सुझाव देते हैं कि एक पोर्टेबल बायोडाइजेस्टर चुनें।

जगह की बात करें तो एक 50×50 फीट की जगह होनी चाहिए और अगर प्लग-इन मॉडल आप इस्तेमाल कर रहे हैं तो 15 स्क्वायर फीट का एरिया चाहिए। आप इसे अपनी छत पर या फिर घर के पीछे किसी खाली जगह में लगवा सकते हैं।

बायोडाइजेस्टर के साथ आने वाली चीजें:

Feeding of biogas plant (left) and gas outlet (right) Source: Flickr
  • डाइजेस्टर टैंक: इस टैंक में सभी जैविक कचरे को डाला जाता है, जहां सूक्ष्मजीव इसे प्रोसेस करके मीथेन गैस बनाते हैं।
  • गैस कलेक्टर: जब गैस बन जाती है तो इस चैम्बर में आकर इकट्ठा होती है।
  • आउटलेट: गैस बनने के बाद, जैविक कचरे की जो स्लरी बच जाती है, वह इस आउटलेट से बाहर निकल जाती है और इसे बाद में जैविक खाद के रूप में इस्तेमाल कर लिया जाता है।
  • पाइपलाइन: बायोगैस प्लांट को पाइपलाइन की मदद से रसोई से जोड़ा जाता है, जहाँ एलपीजी की जगह बायोगैस का इस्तेमाल खाना पकाने के लिए हो सके।

बायोडाइजेस्टर में जैविक कचरा डालने के बाद, गैस बनने में 24 घंटे का समय लगता है।

सभी जैविक कचरे को इकट्ठा कर अलग करना और फिर इसके छोटे-छोटे टुकड़े करना और फिर डाइजेस्टर में डालना- इस सारी प्रक्रिया के लिए आपको हर दिन लगभग 2 घंटे का समय देना होगा।

यह भी पढ़ें: कभी नहीं गये स्कूल; कचरे से चलने वाला इंजन बनाकर इस किसान ने खड़ा किया करोड़ों का कारोबार!

बायोडाइजेस्टर के बारे में अधिक जानने के लिए peepalwastemanagers.com वेबसाइट देखें!

कवर फोटो: फ्लिकर

मूल लेख: गोपी करेलिया

संपादन – अर्चना गुप्ता


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Keywords: LPG Price Hike, LPG Gas Cylinder, Biodigester, Peepal Waste Managers, Waste Management, Biogas, Cooking Gas, Biogas Plant. Methane

Promotion
Banner

देश में हो रही हर अच्छी ख़बर को द बेटर इंडिया आप तक पहुँचाना चाहता है। सकारात्मक पत्रकारिता के ज़रिए हम भारत को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो आपके साथ के बिना मुमकिन नहीं है। यदि आप द बेटर इंडिया पर छपी इन अच्छी ख़बरों को पढ़ते हैं, पसंद करते हैं और इन्हें पढ़कर अपने देश पर गर्व महसूस करते हैं, तो इस मुहिम को आगे बढ़ाने में हमारा साथ दें। नीचे दिए बटन पर क्लिक करें -

₹   999 ₹   2999

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है.

तालाब नहीं मिट्टी में उगाए सिंघाड़े, एक एकड़ से कमाया डेढ़ लाख रुपये का मुनाफा!

बिज़नेस आईडिया है पर प्लान नहीं? इंदौर जाइए और मिलिए इस स्टार्टअपमैन से!