in ,

6 पॉकेट वाले इस सूती बैग के साथ करें प्लास्टिक-फ्री शॉपिंग, कीमत सिर्फ़ 165 रुपये!

इस बैग के गंदे होने पर आप आसानी से घर पर ही धोकर सुखा सकते हैं और इसे फिर से इस्तेमाल कर सकते हैं!

म सभी को पॉलिथीन में फल और सब्ज़ियाँ लाने में और फिर उन्हें पॉलिथीन में ही फ्रिज में स्टोर करने में बुरा लगता है। पॉलिथीन में बंद ताज़ा सब्ज़ियाँ और फल बहुत जल्दी ख़राब होते हैं। पर फिर भी इस समस्या को हम नज़रअंदाज करते हैं। क्योंकि अलग-अलग सब्ज़ी और फलों के लिए अब अलग-अलग थैले कौन लेकर जाए?

पर हमारे पास आपकी इस समस्या का एक बहुत ही बढ़िया और किफ़ायती समाधान है- छह पॉकेट वाला सूती बैग।इसमें आप अपनी सब्ज़ियाँ अलग-अलग रखकर ला सकते हैं और फिर इस बैग को सीधा फ्रिज में रख सकते हैं। सूती बैग में सब्ज़ियाँ काफ़ी दिनों तक ताज़ा और स्वस्थ रहती हैं।

165 रुपये के इस 6 पॉकेट ग्रोसरी सूती बैग को खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें!

फलों व सब्ज़ियों की शेल्फ-लाइफ बढ़ाएं:

कुछ सब्ज़ियाँ जैसे कि टमाटर कई दिनों तक स्टोर किये जा सकते हैं अगर उन्हें सही तापमान में रखा जाये तो। लेकिन करी पत्ता, धनिया आदि इतने दिनों में सुख जाएंगे। हमें यह समझना भी ज़रूरी है कि पॉलिथीन में सब्ज़ियाँ जल्दी खराब होती हैं क्योंकि इसमें हवा नहीं पहुँच पाती। इसलिए सब्जियों को हमेशा सूती के कपड़े आदि में रखना चाहिए, जिसमें से हवा का पार होना आसान हो।

इसके अलावा, कुछ फल व सब्जियों से ऐसी गैस निकलती है जिसकी वजह से अन्य सब्ज़ियाँ जल्दी पकने लगती हैं और खराब हो जाती हैं। इसलिए सभी सब्जियों को अलग-अलग कपड़े में स्टोर करें और ऐसा करने के लिए यह सूती का वैजी टू फ्रिजी बैग बिल्कुल सही विकल्प है।

Promotion

आज ही यहाँ से खरीदें!

 

बार-बार कर सकते हैं इस्तेमाल:

आसान से शब्दों में कहें तो इस एक बैग से आप कई सारे मुद्दों को हल कर रहे हैं। जी हाँ, सबसे पहले तो हर बार जो ढेरों पॉलिथीन खरीददारी के समय जमा हो जाती हैं, अब नहीं होंगी। इससे आप कहीं न कहीं प्रदुषण रोकने में मददगार होंगे।

इस बैग में आप 7 किग्रा तक वजन उठा सकते हैं। यह आपकी सब्जियों को मैनेज तो करता ही है, साथ ही पूरी तरह से पर्यावरण के अनुकूल है। सूती कपड़े की वजह से सब्जियों में ताजगी बनी रहती है और सभी सब्ज़ियाँ इस एक बैग में ही स्टोर हो जाती हैं तो कहीं न कहीं फ्रिज में भी जगह कम इस्तेमाल होती है।

सबसे अच्छी बात है कि इस बैग को गंदे होने पर आप आसानी से घर पर ही धोकर सुखा सकते हैं और फिर से इस्तेमाल कर सकते हैं। तो आज ही अपने और अपनों के लिए खरीदिये यह मात्र 165 रुपये की कीमत का वैजी बैग और अपने पर्यावरण के संरक्षण की दिशा में उठाइए एक कदम!

इस बैग के बारे में अधिक जानकारी के लिए और खरीदने के लिए यहाँ पर क्लिक करें! 

मूल लेख: तन्वी पटेल

संपादन – मानबी कटोच 


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

शेयर करे

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है. निशा की कविताएँ आप https://kahakasha.blogspot.com/ पर पढ़ सकते हैं!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

बेटी के आख़िरी चार सपने पूरे करने निकला था यह पिता; हज़ारों बच्चों की दुआएं लिए चला है आज भी!

दो युवाओं ने केरल के इन छोटे-छोटे गाँवों को बना दिया बेहतरीन टूरिज्म स्पॉट!