in ,

पढ़ाई के साथ करें कमाई भी, इन प्लेटफॉर्म्स पर मिलेंगे वर्चुअल इंटर्नशिप के विकल्प!

इन वेबसाइट्स पर रजिस्टर करने के लिए आपको कोई फीस देने की ज़रूरत नहीं है। यह बिल्कुल स्टूडेंट-फ्रेंडली है!

मैं हरियाणा के एक छोटे शहर से ताल्लुक रखती हूँ, जहाँ मेरी दुनिया स्कूल से घर और घर से स्कूल तक ही सीमित थी।  लेकिन जब बारहवीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया तो पता चला कि कितना कुछ है दुनिया में जो मुझे पता ही नहीं था।

हम छोटे शहरों या फिर गाँवों से आने वाले छात्रों के लिए सबसे बड़ी परेशानी होती है जागरूकता की कमी और बहुत बार आत्मविश्वास की कमी। मैं भी अपनी ग्रेजुएशन के शुरूआती कुछ महीनों में तनाव और डर में रही कि मैं अपने क्लासमेट्स से कम हूँ। भाषा के साथ थोड़ी दिक्कत थी, कंप्यूटर स्किल्स नहीं थी और तो और टेक्स्ट बुक्स के अलावा कोई नॉवेल या फिर अन्य कुछ ख़ास पढ़ा नहीं था।

तब समझ आया कि दो ही रास्ते हैं या तो यूँ ही पीछे बैठकर भीड़ में खो जाऊं या फिर अपनी कमियों पर काम करूँ और लोगों की नज़रों में अपनी एक पहचान बनाऊं। अपने व्यक्तित्व और अपनी स्किल्स को निखारने के लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी होता है प्रैक्टिकल ज्ञान। किसी भी प्रोफेशनल क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए टेक्निकल स्किल्स के साथ-साथ कम्युनिकेशन स्किल्स, प्रेजेंटेशन स्किल्स भी अच्छी होनी चाहिए।

पर ऐसे मौके कहाँ से ढूंढे, जहां हमें अपनी कमियों को परे हटाकर कुछ सीखने का, कुछ करने का मौका मिले। तब मुझे अपने कुछ दोस्तों से अलग-अलग वर्चुअल इंटर्नशिप प्लेटफॉर्म्स के बारे में पता चला। शुरू-शुरू में ज़्यादा कुछ समझ नहीं आता था, लेकिन मैं लगातार इन वेबसाइट्स को देखती, जानने-समझने की कोशिश करती। और धीरे-धीरे इन पर इंटर्नशिप के लिए अप्लाई करना शुरू किया।

मेरी सबसे पहली वर्चुअल इंटर्नशिप ‘YourDost’ के साथ थी। जहाँ मुझे न सिर्फ़ सीखने का मौका मिला, बल्कि हर महीने अपना कुछ कमाने का भी मौका मिला। इसके बाद मैंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। एक के बाद दूसरी, दूसरी के बाद तीसरी, अपनी पढ़ाई के साथ मैंने इंटर्नशिप-वॉलंटियरिंग जारी रखी। और आज मेरे करियर में यह अनुभव बहुत काम आ रहा है।

इसलिए आज मैं आपको ऐसे कुछ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स के बारे में बता रही हूँ, जहाँ आपको देश के छोटे-बड़े संगठनों के साथ ऑनलाइन, ऑफलाइन काम करने का चांस मिल सकता है। सबसे अच्छी बात यह है कि इन वेबसाइट्स पर रजिस्टर करने के लिए आपको कोई फीस देने की ज़रूरत नहीं है। बल्कि इन प्लेटफॉर्म्स पर आपको ऐसे विल्क्ल्प मिलेंगे जहाँ इंटर्नशिप के लिए आपको सर्टिफिकेट के साथ-साथ पैसे कमाने का भी मौका मिलेगा। ये प्लेटफॉर्म्स बिल्कुल स्टूडेंट-फ्रेंडली हैं!

 

1. इंटर्नशाला (Internshala) एक ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म है जहाँ छात्र अपने विषय और अपनी दिलचस्पी के हिसाब से इंटर्नशिप ढूंढ सकते हैं। यहाँ पर आपको इंजीनियरिंग, आर्ट्स, साइंस एंड टेक्नोलॉजी, लॉ, आईटी, कंप्यूटर, सोशल वर्क, टीचिंग और यहाँ तक कि सरकारी संगठनों में निकलने वाली इंटर्नशिप के बारे में भी पता चलेगा।

इंटर्नशाला पर स्कूल के छात्रों से लेकर मास्टर्स, पीएचडी करने वाले छात्रों के लिए इंटर्नशिप के मौके उपलब्ध हैं। देश के ज़्यादातर सभी छोटे-बड़े शहरों में स्थित अलग-अलग संगठनों में निकलने वाली समर, विंटर या फिर अन्य कोई भी इंटर्नशिप, पार्ट-टाइम जॉब, फुल-टाइम जॉब या फिर वर्क फ्रॉम होम (घर से काम करने का मौका) आदि के बारे में जानकारी मिल जाएगी।

इंटर्नशिप के साथ-साथ इंटर्नशाला पर छात्रों के लिए कुछ सर्टिफाइड ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम्स भी हैं जैसे वेब डेवलपमेंट, डाटा साइंस, एथिकल हैकिंग, कोर जावा, डिजिटल मार्केटिंग, ऑटो कैड आदि। लेकिन इन सर्टिफाइड ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम्स को लेने के लिए आपको कुछ फीस देनी होगी।

इस प्लेटफ़ॉर्म पर आपको सभी तरह की इंटर्नशिप, जैसे कि कुछ में आपको सिर्फ़ सर्टिफिकेट मिलता है तो कुछ में आपको एक न्यूनतम सैलरी भी मिलती है। अधिक जानकारी के लिए यहाँ पर क्लिक करें!

2 . लेट्स इंटर्न (Let’sIntern) भी इंटर्नशिप ढूंढने के लिए अच्छा ऑनलाइन साधन है। यहाँ पर भी आपको अपनी रूचि और स्किल्स पर काम करने के लिए अच्छे विकल्प मिलेंगे। यदि आप अभी स्टूडेंट लाइफ में हैं तो इंटर्नशिप देखने के साथ-साथ आप इन वेबसाइट के ब्लॉग भी पढ़िये। इनके सभी ब्लॉग पोस्ट छात्रों के सामने आने वाली परेशानियों से ही संबंधित होते हैं।

 

3. ट्वेंटी19 (Twenty19) का स्लोगन है, ‘छात्रों की सुनों, उन्हें समझो और उन्हें वह दो जो वे चाहते हैं।’ इसी थीम पर काम करते हुए इस संगठन की कोशिश रहती है कि यहाँ पर रजिस्टर करने वाले छात्रों को न सिर्फ़ उनके क्षेत्र से जुड़ी इंटर्नशिप के मौकों के बारे में, बल्कि अन्य सभी तरह की गतिविधियाँ जैसे कि कॉलेज-यूनिवर्सिटी की टेक फेस्ट, कल्चरल फेस्ट, अलग-अलग कांटेस्ट, कॉन्फ्रेंस, सेमिनार आदि के बारे में भी जानकारी दी जाये।

Promotion

वेबसाइट पर उपलब्ध उनके बायो के मुताबिक, उनका मुख्य उद्देश्य है छात्रों को अलग-अलग तरह के प्रोफेशनल माहौल का अनुभव कराके, उन्हें इस काबिल बनाना कि वे खुद अपना करियर चुनें और अपने सपनों को पूरा करें। इतना ही नहीं, यहाँ पर रजिस्टर करने वाले छात्रों को करियर डेवलपमेंट पर गाइड भी किया जाता है।

 

 

इस प्लेटफ़ॉर्म पर भी आप कुछ ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम कर सकते हैं जिनके लिए आपको फीस देनी होगी। बाकी कुछ बेसिक ट्रेनिंग प्रोग्राम जैसे कि प्रोफेशनल ईमेल राइटिंग, बायोडाटा बनाने के टिप्स, एक्सेल के कुछ बेसिक टिप्स, कवर लैटर लिखने की ट्रेनिंग आदि आपको फ्री में मिलती हैं।

वेबसाइट देखने के लिए यहाँ पर क्लिक करें!

4. वर्कटीन (WorkTeen): इस ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म को ख़ास तौर पर स्कूल के छात्रों के लिए डिजाईन किया गया है। यहाँ पर हाई स्कूल के बच्चे इंटर्नशिप या फिर वॉलंटियरिंग करने के मौके ढूंढ सकते हैं। सबसे दिलचस्प बात यह है कि इस प्लेटफ़ॉर्म को साल 2016 में जयपुर के अमन सुराना ने शुरू किया था और उस वक़्त वे खुद 12वीं कक्षा के छात्र थे।

एक इंटरव्यू के दौरान अमन ने बताया कि 16 से 19 साल की उम्र वाले बच्चों के लिए स्पेशल कोर्स आईबी डिप्लोमा प्रोग्राम करने वाले छात्रों को कंपल्सरी 50 घंटे सामुदायिक कार्यों के लिए देने पड़ते हैं। इसलिए उन्होंने तय किया कि इस संगठन के ज़रिए स्कूल के बच्चों के लिए सोशल वर्क में उपलब्ध इंटर्नशिप की जानकारी दी जाएगी।

अमन और उनकी टीम ने न सिर्फ़ पहले से उपलब्ध इंटर्नशिप को इस प्लेटफ़ॉर्म पर जगह दी, बल्कि बहुत से सामाजिक संगठनों को स्कूल के बच्चों को इंटर्नशिप और वॉलंटियर करने के मौके देने के लिए भी एप्रोच किया।

छात्रों को बस वेबसाइट पर जाना है। कोई रजिस्ट्रेशन का भी झंझट नहीं है और वे अपनी स्किल्स और जगह के हिसाब से अपने लिए इंटर्नशिप ढूंढ सकते हैं। फ़िलहाल, वेबसाइट पर फीडिंग इंडिया, ओवेंडरफुल मोम बेकर्स कम्युनिटी, सेवालय, वर्ल्डवाइल्ड लाइफ जैसे संगठनों के साथ काम करने के मौके उपलब्ध हैं। आप यहाँ क्लिक करके सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं!

5. स्टूमैगज़ (StuMagz) के फाउंडर श्रीचरण लक्काराजू के मुताबिक, यह एक प्लेटफ़ॉर्म है जहाँ छात्र समुदाय अपने विचारों, अपनी सोच को आवाज़ दे सकते हैं- अपने जैसे और छात्रों के विचारों के बारे में जान सकते हैं। वह बताते हैं कि स्टूमैगज़ के ज़रिए वे छात्रों और कम्पनीज, दोनों के लिए कुछ अच्छा करना चाहते हैं। यदि कोई कंपनी किसी इंटर्नशिप या फिर जॉब रोल के लिए हायरिंग करना चाहती है तो वह अपनी वैकेंसी यहाँ पोस्ट कर सकती है या फिर कोई भी संगठन किसी कॉलेज-यूनिवर्सिटी में छात्रों के लिए, छात्रों के साथ मिलकर कोई इवेंट करना चाहता है, तो इसमें भी स्टूमैगज़ उनकी मदद करता है।

इसके अलावा, कॉलेज स्टूडेंट यहाँ पर किसी भी विषय से संबंधित आर्टिक्ल, स्टोरी लिख सकते हैं। यह प्लेटफ़ॉर्म छात्रों को अपने प्रोजेक्ट करने में भी मदद करता है। यदि किसी स्टूडेंट को अपने प्रोजेक्ट में कोई मदद चाहिए जैसे कि जावा कोडिंग या फिर किसी फ्रंट डिजाइनिंग प्रोजेक्ट में तो वे यहाँ पोस्ट कर सकते हैं। इस वेबसाइट का एक फीचर इवेंट प्लान करना भी है। कॉलेज में अगर स्टूडेंट्स कोई इवेंट करना चाहते हैं तो वे यहाँ पर इवेंट क्रिएट करके अन्य कॉलेज और यूनिवर्सिटी के छात्रों को बता सकते हैं।

यहाँ पर क्लिक करें और जानें कि कैसे स्टूमैगज़ आपके लिए मददगार हो सकता है!

तो आज ही इन प्लेटफॉर्म्स को चेक करें और अपने प्रोफेशनल करियर की तरफ एक कदम उठायें!

संपादन – मानबी कटोच 


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

शेयर करे

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है. निशा की कविताएँ आप https://kahakasha.blogspot.com/ पर पढ़ सकते हैं!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

राजस्थान का एक गाँव, जहाँ सालाना इक्ट्ठा होते हैं 10 हजार से भी ज्यादा कलाकर!

ख़ामोशी की पंखुड़ियाँ !