Search Icon
Nav Arrow
Patna ki Chaiwali, Priyanka Gupta

पटना की चायवाली: नहीं मिली नौकरी तो बन गईं उद्यमी, कॉलेज के बाहर ही खोल ली चाय की टपरी

पुर्णिया, बिहार की रहनेवाली प्रियंका गुप्ता सोशल मीडिया पर छाई हुई हैं और इसका कारण यह है कि BHU से इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएट होने के बाद भी प्रियंका को कहीं नौकरी नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने जिस काम को अपना प्रोफेशन बनाया उसने उन्हें चर्चा का विषय बना दिया है।

सोच मत चालू कर दे बस…खुद को यही बोलकर पुर्णिया (बिहार) की प्रियंका गुप्ता ने ‘चायवाली’ (Patna ki Chaiwali) नाम से अपने बिज़नेस की शुरुआत की थी और आज उनकी वीडियो सोशल मीडिया और चाय, पूरे पटना में फेमस हो गई है। दरअसल, प्रियंका बीएचयू (Banaras Hindu University) से इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन करने के बाद, नौकरी की तलाश में कई शहरों में घुमीं, लेकिन कहीं नौकरी नहीं मिली।

इसके बाद प्रियंका ने दोस्तों की मदद से पटना के वीमेंस कॉलेज के पास टी स्टॉल लगाकर चाय बेचनी शुरू कर दी।इकोनॉमिक्स से ग्रेजुएट 24 साल की प्रियंका, पटना के विमेंस कॉलेज के बाहर अपनी चाय की छोटी सी टपरी चलाती हैं और अपनी इस हिम्मत की वजह से वह पटना में फेमस और सोशल मीडिया पर वायरल भी हो गई हैं। 

Patna ki Chaiwali को बैंक ने नहीं दिया लोन

प्रियंका ने बताया, “पिछले साल मेरा बैंक का एग्जाम बहुत नज़दीक जाकर छूटा था। दरअसल, 2019 में मैं ग्रेजुएट हुई थी। जिसके बाद 2 साल तक मैंने नौकरी की तलाश की, लेकिन जॉब नहीं लगी। फिर मैंने सोचा कि कब तक ऐसे रहना है, कुछ तो करना है न। बेरोज़गार होने से अच्छा है कि कुछ छोटा स्टार्टअप ही कर लिया जाए।”

Advertisement

इसी दौरान प्रियंका को ‘MBA चायवाला’ के प्रफुल बिल्लोरे के बारे में पता चला। प्रियंका ने इंटरनेट पर उनके ढेर सारे वीडियोज़ देखे और उनसे प्रेरित होकर ही उन्होंने चाय का बिज़नेस शुरू करने का फैसला किया। 

अब बिज़नेस का आइडिया तो मिल गया, लेकिन अब ज़रूरत थी फंडिंग की। इसके लिए प्रियंका ने लोन के लिए कई बैंकों के चक्कर काटे, लेकिन उन्हें कहीं से भी लोन नहीं मिला। फिर उनके एक दोस्त ने उन्हें 30,000 रुपए दिए और उनकी मदद से प्रियंका ने अपनी टपरी शुरू कर दी। 

यह भी पढ़ेंः MBA चायवाले के बाद, अब मिलिए Engineer चायवाले से, बिना दुकान के कमाते हैं नौकरी से ज्यादा

Advertisement

close-icon
_tbi-social-media__share-icon