एक ऐसा बाज़ार जहाँ अब आप आधार कार्ड दिखाकर सब्जियां खरीद और बेच सकते है!

500 और 1000 के नोट बंद होने के दस दिनों बाद भी लोगो की परेशानी दूर होती नज़र नहीं आ रही है। लोगों को रोज़मर्रा के ज़रूरत का सामान खरीदने में भी दिक्कत हो रही है। पर वहीँ हैदराबाद के कूकटपल्ली रायतू बाजार में माहौल कुछ और ही है। यहाँ ग्राहकों ने करीब 15000 की सब्जियां खरीदी है।पर इस बाज़ार में खरीदारी के लिए लोगों को न पुराने नोट बदलने की चिंता करनी पड़ी और न ही नए नोट न होने की वजह से परेशान होना पडा क्यूंकि यहाँ सब्जियां नोटों से नहीं आधार कार्ड से खरीदी गयी।

पुणे से एस्टोनिया तक बस एक विचार को साथ लिए बदलाव की नयी परिभाषा लिख रहे है तरुण !

ज़रूरी नहीं कि हमारे पास कई संसाधन हों या कोई बड़ा प्लान दिमाग में हो। अच्छाई इनके बिना भी बांटी जा सकती है। ज़रूरत है सिर्फ एक नेक सोच और एक वाक्य "- you're perfect" की, जो हर राह चलते आम इंसान के अन्दर ये आत्मविश्वास पैदा करे कि वे जैसे हैं.. वैसे ही अच्छे हैं.. । बिना किसी धारणा के, बिना किसी पक्षपात के।

हैदराबाद पुलिस !! गणपति का त्यौहार !! और छः अनाथालय !! जानिए कैसे जुड़े ये तीनो !

सन १८९३ में जब लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने देशवासियों को एकत्रित करने के लिए गणेशोत्सव को सार्वजानिक रूप से मनाने की सोची होगी, तब उन्होंने भी इस बात की कल्पना नहीं की होगी कि इस उत्सव का सदुपयोग कुछ इस प्रकार भी किया जा सकता है।