सुबाशिनी संकरन – देश की पहली महिला आईपीएस, जिनके जिम्मे है मुख्यमंत्री की सुरक्षा!

सुबाशिनी संकरन देश की पहली महिली IPS अधिकारी हैं, जिन्हें आजाद भारत में किसी मुख्यमंत्री की सुरक्षा का जिम्मा दिया गया है। इस वर्ष के जुलाई महीने में सुबाशिनी ने यह जिम्मेदारी संभाली।

इ-ड्रॉपबॉक्स से अब बच्चे ऑनलाइन भी कर सकते हैं दुराचार की शिकायत !

देश में बच्चों के साथ दुराचार की घटनाएँ अक्सर सामने आती हैं, लेकिन उससे कई गुना अधिक घटनाएँ ऐसी होती हैं जो कहीं दर्ज ही नहीं की जातीं। उसका एक बड़ा कारण यह है कि ऐसे मामलों में दोषी बच्चों के परिवार का ही करीबी, रिश्तेदार या जानने वाला होता है, जिसके खिलाफ बच्चे डर और झिझक से कभी शिकायत नहीं करते। लेकिन अब इन्हीं मामलों पर शिकंजा कसने के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और राष्ट्रीय बाल अधिकार सरंक्षण आयोग ने कमर कस ली है। बच्चो का सुरक्षा घेरा बढ़ाने के लिए मंत्रालय ने शिकायत करने का आसान और सुरक्षित तरीका बच्चों को दिया है।

नवजात शिशुओ को अब सिर्फ एक छोटा सा ब्रेसलेट पहना कर बचाया जा सकता हैं!

भारत में हर साल हाइपोथरमिया से कई बच्चों की मौत होती है। यह ब्रेसलेट रेगुलर टेम्परेचर मॉनिटरिंग सिस्टम से बच्चों के शरीर के तापमान पर नजर रखेगा। इससे समय रहते बच्चों को हाइपोथरमिया से बचाया जा सकेगा।

माँ-बेटी की ये जोड़ी बना रही है अहमदाबाद की सडको को सुन्दर भी और सुरक्षित भी !

अहमदाबाद की सडको ने दुर्घटनाओं से बचने का कलात्मक रास्ता खोज निकाला है। श्रेय जाता है यहाँ की सौम्या पांड्या ठाकुर और शकुंतला ठाकुर को। इस माँ-बेटी की जोड़ी ने बड़ी ही कुशलता से ज़ेबरा क्रासिंग को 3D में पेंट कर, एक नया रूप दिया है।