सरकारी स्कूल की ईमारत गिरा दिए जाने पर गांववालों ने मिलकर किराये के मकान में चलाये रखा स्कूल!

सिर्फ ईमारत न होने के कारण गाँव का ये एकमात्र स्कूल बंद न हो जाए इसलिए गांववालों ने मिलकर ये फैसला लिया।

ए.सी क्लासरूम, वनस्पति उद्यान, छात्रों के लिए टेबलेट – निजी विद्यालयों से बेहतर बन रहा है यह सरकारी विद्यालय!

पुणे जिले के वाब्लेवादी गाँव में एक ऐसा सरकारी विद्यालय है, जो देश के अन्य विद्यालयों से भिन्न है। हालाँकि अब यह पुरानी बात हो गयी है, फिर भी इसकी गूँज दूसरों तक पहुंचना बाकी है।

सरकारी स्कूल के एक शिक्षक ने बनाया शिक्षा का अनोखा मॉडल!!!

जिला परिषद् के एक सामान्य स्कूल को एक नौजवान शिक्षक ने अपनी मेहनत से डिजिटल स्कूल में परिवर्तित किया है। इस स्कूल से प्रेरित होकर महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के ५०० स्कूलो को डिजिटल बनाने का फैसला किया है।