युवा प्रेरणा यात्रा: गांव, युवा और रोजगार को जोड़ने की एक अनोखी पहल!

युवा प्रेरणा यात्रा में हर साल करीब 100 युवाओं की टोली को असल जिंदगी के नायक चैंपियन्स से मिलाते है ताकि ये युवा भी दूसरों के लिए मिसाल बन सके।

केरल के एक छोटे से गाँव से निकल सौ करोड़ की कंपनी के मालिक बनने का सफ़र!

ये कहानी है पी सी मुस्तफा की जो एक छोटे से गाँव से है जहां बिजली तक नहीं थी। पिता चौथी तक पढ़े, माँ कभी स्कूल गई ही नहीं और वे खुद छटवी में फेल हो गए पर इसके बाद मुस्तफा ने एनआईटी, कोलकाता से लेकर आई आई एम बेंगलोर से पढाई की और सौ करोड़ का कारोबार खडा कर लिया।ऐसी कहानियां हमारे निराश मन के इंजन में ईंधन का काम करती हैं। और हम प्रेरित होकर खुद ब खुद चल पड़ते हैं।