अनाथालयो की बच्चियों को ‘दंगल’ दिखाने के लिए पूरा सिनेमाघर बुक किया इंदौर के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर ने!

हमारे देश में एक तपका ऐसा भी है जिन्हें न खबरे देखने की फुर्सत है और न फिल्मे देखने की सहूलियत। फिर इन लड़कियों को कुछ बनने की प्रेरणा कैसे मिलती? इसका एक सरल सा उपाय ढूंड निकाला इंदौर के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर पी नरहरी ने। उन्होंने 250 ऐसी लड़कियों को 'दंगल' फिल्म दिखाई, जो काफी गरीब घर से थी।

जानिये क्यूँ ये कलाकार अपनी तस्वीरों में औरतों की जगह गहनों, जमीन और पैसो से बदल रही है !

कनेडियन –भारतीय कलाकार बलजीत सिंह अपनी चित्र श्रंखला ‘पराया धन’ से दहेज़ प्रथा के खिलाफ आवाज़ उठा रही है।