ग्रीन ग्रुप से महिलाओं को सशक्त बनाकर गाँवो में उम्मीद रोपते ‘होप’ समूह के छात्र

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों ने होप नाम की एक संस्था बनाई है, जिसमें बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के साथ काशी विद्यापीठ, दिल्ली विश्वविद्यालय और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र और प्रोफेसर जुडकर सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं. ये छात्र गांवों में जाकर वहाँ की समस्याओं को अपने बेहतर आइडिया से समाधान में बदल रहे हैं.

स्वामी विवेकानंद के 10 प्रेरणादायक विचार जो आपको जीने की नयी राह देंगे!

आज भी, जब भारत का अधिकांश युवावर्ग नौकरी करने में नहीं बल्कि अपना कोई व्यवसाय शुरू करने में ज्यादा दिलचस्पी दिखा रहा है तब स्वामी विवेकानंद के विचार उन्हें सही रास्ता दिखने में बहुत सहायक हो सकते है।

हर एक पेड़ को लोहे की कीलो और इश्तहारो से मुक्ति दिला रहे है अहमदाबाद के युवा!

गुजरात के अहमदाबाद शहर के कुछ युवाओं ने मिलकर' हाइली एनेरजाइस्ड यूथ फॉर हेल्पिंग इंडीयंस' (HeyHi) नामक एक संस्थाकी शुरुआत की है। यह संस्थाशहर भर के पेड़ो के संरक्षण के मुहीम में जुटा हुआ है।

मिलिए देश के हजारों युवाओं को फौजियों में तब्दील करने वाले कर्नल अजय कोठियाल से !

नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (एनआईएम) के प्रिसिंपल और कई गैलेंट्री अवार्ड्स के विजेता, कर्नल अजय कोठियाल पर्वतारोहन के अलावा भी देशहित में एक बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। और ये भूमिका है देश की सीमा पर तैनात सेना और देश के भीतर हमारी रक्षा करने वाले पुलिस सेवा के लिए फौजियों को तैयार करने की।

BITS पिलानी के इस छात्र ने अपनी तनख्वाह का एक हिस्सा वृद्धाश्रम को दान कर, की एक खूबसूरत बदलाव की पहल!

आज की पीढ़ी इन परंपराओं को बनाये रखने के साथ साथ इनमे कुछ ऐसे बदलाव भी कर रही है जिससे समाज का भला हो। BITS, पिलानी में पढ़ रहे नमन मुनॉट ने भी ऐसे ही एक बदलाव की पहल की है। उन्होंने अपनी पहली तनख्वाह का 20 फीसदी हिस्सा वृद्धाश्रम को दान में दे दिया।

पिता के साथ जेल में रहकर की IIT की तैयारी और 453 रैंक हासिल किया!

जेल में रहकर इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी करना और IIT JEE में 453 रैंक पाना – 18 साल के पीयूष के लिए सफर मुश्किल था, पर उसकी मेहनत और लगन के कारण नामुमकिन नहीं था।

युवा प्रेरणा यात्रा: गांव, युवा और रोजगार को जोड़ने की एक अनोखी पहल!

युवा प्रेरणा यात्रा में हर साल करीब 100 युवाओं की टोली को असल जिंदगी के नायक चैंपियन्स से मिलाते है ताकि ये युवा भी दूसरों के लिए मिसाल बन सके।