भगत सिंह – मौत ही जिनकी माशुका थी !

आज़ादी के दीवाने और भारत माँ के सपूत क्रांतिकारी शहीद भगत सिंह का जन्म 28 सितम्बर 1907 में लायलपुर ज़िले के बंगा में (अब पाकिस्तान में) सरदार किशन सिंह के यहाँ हुआ।

एक वीर स्वतंत्रता सेनानी जो अपनी आखरी सांस तक देश की सेवा करती रही!

आइये मिलते हैं, सुशीला चैन त्रेहन से, जिन्होंने न सिर्फ ब्रिटिश सरकार के खिलाफ लडाई लड़ी, बल्कि कई लोगो के खिलाफ जा कर पंजाब के गाँव में जा कर लडकियों को शिक्षित करने का भी हौसला दिखाया। अपने जीवन का हर एक क्षण उन्होंने समाज की भलाई को समर्पित कर दिया। पढ़ते हैं इनके साहस और संकल्प की प्रोत्साहित करने वाली कहानी।