एक बलात्कार पीड़ित जिसे अपनी ही माँ ने ठुकरा दिया, आज इस अद्भुत विद्यालय मे अपने सपने पूरे कर रही है

सीता का पहले अपहरण किया गया, फिर बलात्कार किया गया और फिर उसे रेल की पटरी पर मरने के लिए छोड़ दिया गया. पर इसके बाद अपनी ही माँ द्वारा ठुकराई हुई सीता ने इस विद्यालय मे एक नया जीवन पाया जहाँ उसी की तरह दुर्भाग्यपूर्ण लड़कियो को सपने देखने का और अपने जीवन की नयी शुरूवात करने का मौका दिया जाता है