सरकारी स्कूल की ईमारत गिरा दिए जाने पर गांववालों ने मिलकर किराये के मकान में चलाये रखा स्कूल!

सिर्फ ईमारत न होने के कारण गाँव का ये एकमात्र स्कूल बंद न हो जाए इसलिए गांववालों ने मिलकर ये फैसला लिया।

17 कीमी का सफ़र तय कर, रोज़ 10 घंटे तक करती है सरबजीत कौर सीमा से सटे अस्पताल में मरीजों की मदद !

अपने पति को खो चुकी सरबजीत अपनी दोनों बच्चियों और माँ के साथ अमृतसर से 45 कीमी दूर अटारी गाँव में रहती है। इसी गांव से 17 कीमी की दूरी पर है नौशेरा ढल्ला गाँव जहां के सरकारी अस्पताल में सरबजीत काम करती है। ये अस्पताल सीमा से महज़ 200 मीटर की दूरी पर है।