नकली नोटों के झांसे से बचे; ऐसे पहचाने नए 2000 व 500 के असली नोटों को!

हम आपके लिए लाए हैं कुछ ऐसी जानकारी जिससे आप पता लगा सकते हैं कि आपके हाथ में जो नोट हैं वह असली है या नकली।

31 दिसंबर से देश का पहला कैशलेस राज्य बन जाएगा गोवा !

नोटबंदी लागू होने के बाद से पूरे देश में नकद-रहित अर्थव्यवस्था को लेकर चर्चा चल रही है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगों से मोबाइल को ही अपना बैंक बना लेने की अपील कर चुके हैं। इस कड़ी में गोवा सरकार पूरी कोशिश में है कि 31 दिसंबर के बाद गोवा में सभी लेनदेन नकद-रहित (कैशलेस) हो।

नोटबंदी का अनोखा असर : मेहमानों को केवल चाय पिलाकर 500 रूपये में की शादी!

नोट बंदी के बाद से जहाँ एक तरफ दहेज़ न मिलने के कारण शादियाँ टूटने की ख़बरें सामने आ रही है वहीँ सूरत के दो परिवार ऐसे है जिन्होंने आपसी समझ बूझ से अपने बच्चो की शादी केवल पांच सौ रूपये में करायी। इस शादी में मेहमानों का स्वागत केवल पानी और चाय के साथ किया गया।

गाँव की एक बेटी की शादी के लिए पूरा गाँव ही बैंक की कतार में खड़ा हो गया!

कोल्हापुर के याल्गुड गाँव के रहने वाले संभाजी बगल के परिवार में ख़ुशी का माहौल था। हर कोई अपने-अपने कामो में व्यस्त था। आखिर घर की बेटी, सयाली की शादी में दिन ही कितने बचे थे। पर अचानक 8 नवम्बर की रात को मानो ये सारा ख़ुशी का माहौल मातम में बदल गया हो।

एक ऐसा बाज़ार जहाँ अब आप आधार कार्ड दिखाकर सब्जियां खरीद और बेच सकते है!

500 और 1000 के नोट बंद होने के दस दिनों बाद भी लोगो की परेशानी दूर होती नज़र नहीं आ रही है। लोगों को रोज़मर्रा के ज़रूरत का सामान खरीदने में भी दिक्कत हो रही है। पर वहीँ हैदराबाद के कूकटपल्ली रायतू बाजार में माहौल कुछ और ही है। यहाँ ग्राहकों ने करीब 15000 की सब्जियां खरीदी है।पर इस बाज़ार में खरीदारी के लिए लोगों को न पुराने नोट बदलने की चिंता करनी पड़ी और न ही नए नोट न होने की वजह से परेशान होना पडा क्यूंकि यहाँ सब्जियां नोटों से नहीं आधार कार्ड से खरीदी गयी।

नोटबंदी से बिलकुल प्रभावित नहीं है ये छोटा सा गाँव – जानिये कैसे!

पांच सौ और हज़ार रूपये के नोटों को बंद हुए एक हफ्ता गुज़र चूका है पर लोग अभी भी अपने पुराने नोट न बदले जाने से परेशान है। काले धन पर लगाम कसने की प्रधानमंत्री की इस मुहीम का लोग जमकर साथ तो दे रहे है पर कहीं न कहीं इस कदम से पनपी असुविधाओं से अब हताश भी हो चले है। पर ऐसे में एक गाँव ऐसा है जो नोटबंदी के इन दुष्परिणामो से बिलकुल अछुता है। ये गाँव है हमारे देश का पहला डिजिटल गाँव, अकोदरा!

नोट बंदी के बाद अपनी दरियादिली से लोगो का दिल जीत रहे ये लोग!

पुराने पांच सौ और हज़ार के नोट बंद हो जाने से जहाँ आम जनता को कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है वहीँ आम भारतियों के बीच संयम और सोहार्द की कहानियां भी सामने आ रही है। देश में काले धन के खिलाफ इस जंग में अपना पूरा योगदान करते ऐसे ही तीन कहानियां आज हम आपके सामने ला रहे है।