सिस्टम से लड़कर गरीब कैंसर पीड़ितो का इलाज कर रहे है महाराष्ट्र के डॉक्टर स्वप्निल माने!!

" माँ, मैं बड़ा होकर डॉक्टर बनूँगा और मुफ्त में इलाज करके गरीबो की सेवा करूँगा” -अपने एक पडोसी को कैंसर से मरते हुये देखकर ८ साल के स्वप्निल माने ने अपने माँ से वादा किया। बीस साल बाद स्वप्निल ने अपने पत्नी के साथ मिलकर महाराष्ट्र के ५२ गाँवो में जाकर हजारो कैंसर ग्रस्त लोगो की मदत की है और आज तक ५५० मरीजो का मुफ्त में इलाज किया है।