इशान के बनाये लकड़ी के पुल की मदत से अब स्कूल जा पाते है झुग्गी में रहने वाले बच्चे!

जब १७ साल के इशान बलबले ने देखा कि साठे नगर झुग्गी के बच्चो को रोज़ डेढ़ किलोमीटर लम्बे एक गंदे, बदबूदार, कचरे से भरे नाले से गुज़रकर स्कूल जाना पड़ता है , तो उन्होंने इन बच्चो के लिए वहां एक पुल बनाने की ठानी। और ये करिश्मा उन्होंने महज़ आठ दिन में कर दिखाया।