इस दंपत्ति के प्रयासों से सड़को पर भीख मांगने वाले बच्चे आज विदेश में पढ़ रहे हैं!

चेन्नई के एक दंपत्ति, उमा एवं मुथूराम, द्वारा संचालित संस्था 'सुयम चेरीटेबल ट्रस्ट' एक एनजीओ है जो सड़कों और गलियों में रहने वाले गरीब परिवारों को पुनर्वासित करने में जुटी हुई हैं। इनके प्रयासों से गरीब और भीख माँगने वाले बच्चे भी विदेशों और प्रतिष्ठित संस्थानों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। चेन्नई के एक दंपत्ति, उमा एवं मुथूराम, द्वारा संचालित संस्था 'सुयम चेरीटेबल ट्रस्ट' एक एनजीओ है जो सड़कों और गलियों में रहने वाले गरीब परिवारों को पुनर्वासित करने में जुटी हुई हैं। इनके प्रयासों से गरीब और भीख माँगने वाले बच्चे भी विदेशों और प्रतिष्ठित संस्थानों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।

अनाथालयो की बच्चियों को ‘दंगल’ दिखाने के लिए पूरा सिनेमाघर बुक किया इंदौर के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर ने!

हमारे देश में एक तपका ऐसा भी है जिन्हें न खबरे देखने की फुर्सत है और न फिल्मे देखने की सहूलियत। फिर इन लड़कियों को कुछ बनने की प्रेरणा कैसे मिलती? इसका एक सरल सा उपाय ढूंड निकाला इंदौर के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर पी नरहरी ने। उन्होंने 250 ऐसी लड़कियों को 'दंगल' फिल्म दिखाई, जो काफी गरीब घर से थी।

पुराने अखबार बेचकर गरीबो के लिए कंबल खरीद रहे है इंजीनियरिंग के ये छात्र!

किसी भी देश का भविष्य उसकी युवा पीढ़ी की सोच पर निर्भर करता है। यदि देश का युवा जागरूक, समझदार तथा सामाजिक जिम्मेदारियों को स्वेच्छा से उठाने वाला हो तो वह देश तथा समाज निश्चित रूप से तरक्की की ओर जा रहा है। तेलंगाना के कुछ युवको की सोच को जानकर ऐसा ही यकीन आपको भारत के लिए भी होगा।

एक डॉक्टर जिसने कैंसर से लड़ाई में दान कर दी जिंदगी भर की कमाई!

यूं तो आपने बहुत सारे चिकित्सको के बारे में पढ़ा और सुना होगा लेकिन समाज के हित के लिए अपनी जिंदगी भर की कमाई एक अस्पताल के निर्माण के लिए दान कर दें, ऐसे चिकित्सक देश और दुनिया में विरले ही है।