इस बहादुरी भरे कारनामे के लिए मिला हवलदार तेजेश को राष्ट्रपति के हाथो जीवन रक्षा पदक!

मुंबई पुलिस में कार्यरत हवलदार तेजेश सोनावने के लिए 15 फरवरी 2016 का दिन किसी भी आम दिन की तरह ही गुज़र रहा था। अचानक उन्हें पता चला कि पास ही की एक इमारत पर कोई आदमी चढ़ गया है और वहां से कूद कर अपनी जान दे देने की धमकी दे रहा है।

[विडियो]- इस गणतंत्र दिवस पर देखे कैसे ला सकते है आप देश में बदलाव !

खुद में वह बदलाव लाएं , जो आप देखना चाहते है। महात्मा गांधी की कही ये पंक्तियां गणतंत्र के 67वें उत्सव पर भी बिल्कुल सटीक बैठती है। 26 जनवरी उत्सव है देश के गणतंत्र बनने का ...यह उत्सव है देश को संविधान मिलने का ...यह उत्सव है तिरंगे का ...यह उत्सव है राष्ट्रप्रेम का।