अपनी घरेलु सहायिका को अपना व्यवसाय खोलने में मदद करके, मनाया क्रिसमस !

वास्तव में ये उपहारों का मौसम है। बोरीवली निवासी कसान्द्रा ने क्रिसमस मनाने का अनुठा तरीका निकाला है —इस क्रिसमस पर उन्होंने अपनी घरेलु सहायिका को आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनने में मदद की।