गाँव की एक बेटी की शादी के लिए पूरा गाँव ही बैंक की कतार में खड़ा हो गया!

कोल्हापुर के याल्गुड गाँव के रहने वाले संभाजी बगल के परिवार में ख़ुशी का माहौल था। हर कोई अपने-अपने कामो में व्यस्त था। आखिर घर की बेटी, सयाली की शादी में दिन ही कितने बचे थे। पर अचानक 8 नवम्बर की रात को मानो ये सारा ख़ुशी का माहौल मातम में बदल गया हो।

सड़क दुर्घटना से हुई मौत के बाद, बेटी ने दी अपनी माँ को एक अनोखी श्रधांजलि !

भारत में सड़क दुर्घटना से हर चार मिनट में एक व्यक्ति की मौत होती है। हर रोज १२०० से भी ज्यादा दुर्घटनाए होती है। नेशनल क्राइम रेकॉर्ड्स ब्यूरो(NCRB) के अनुसार ज्यादा स्पीड और बिना नियम के गाड़ी चलाने की वजह से सड़क दुर्घटना होती है। इस कहानी द्वारा हम अपील करते है कि आप अपने परिजनों को ट्रैफिक के नियमो का उल्लंघन ना करने की सलाह दे।

खुद भुखमरी से जूझने के बावजूद, अपनी सारी फसल चिडियों के लिए छोड़ देता है ये किसान!

अशोक सोनुले और उनके परिवार को बड़ी मुश्किल से दो वक्त की रोटी नसीब होती है। उनके परिवार में कुल १२ सदस्य है। आसपास के सभी किसानो की ज़मीने सूखे की वजह से बंजर पड़ी है। पर अशोक के खेत में ज्वार की फसल लहलहा रही है। आईये जानते है कैसे हुई ये फसल और क्या करते है अशोक इस फसल का!