एक व्यक्ति जिसने केरल में ३२ एकड़ बंजर ज़मीन को बना डाला एक लहलहाता जंगल !

ज़ों ज़्योनो द्वारा १९५३ में लिखी गयी कथा "द मैन हू प्लांटेड ट्रीज " एल्ज़ार्ड बूफीये नामक एक चरवाहे की कहानी है जिसने समस्त अल्पाइन घाटी में वृक्षारोपण कर, एक वन का पुन्हनिर्माण कर, उसे सजीव कर डाला था। यह तो हमें ज्ञात नहीं कि बूफीये कोई काल्पनिक किरदार है या वास्तविक, परन्तु इस कथा की तर्ज़ पर केरला के कासरगोड़ ज़िले में रहने वाले एक व्यक्ति ने यथार्थ में यह कर दिखाया। एक व्यक्ति जिसने बत्तीस एकड़ बंजर भूमि खरीद कर उसपर वृक्षारोपण किया और उसे हरा-भरा बना डाला।