कनाडा की बर्फ में भंगड़ा करके पूरी दुनिया में अपना रंग जमा रहे है ये भारतीय युवक!

कुछ पंजाबी युवाओं का ग्रुप है मैरीटाइम भंगड़ा ग्रुप, जो कनाडा में रहने वाले पंजाबी युवाओं ने मिलकर बनाया है। इस ग्रुप के भंगडे को देखकर पूरी दुनिया झूम रही है।

बिना हाथों के इस युवक ने तैराकी में जीते तीन स्वर्ण पदक!

हौसले की उड़ान बिना परों के होती है। बेशक़ तिनके का भी सहारा न हों जूनून उफनते पानी को पार कर ही जाता है। कुछ ऐसी ही कहानी है हमारे आज के नायक, विश्वास की। जिनका खुद में विश्वास उन्हें लाख मुश्किलों के बीच से निकाल कर आज दुनियां के शिखर पर ले आया है।

जानिये क्यूँ ये कलाकार अपनी तस्वीरों में औरतों की जगह गहनों, जमीन और पैसो से बदल रही है !

कनेडियन –भारतीय कलाकार बलजीत सिंह अपनी चित्र श्रंखला ‘पराया धन’ से दहेज़ प्रथा के खिलाफ आवाज़ उठा रही है।