सतत विकास की और बढ़ते कदम: 15 ऐसे गाँव जिन्हें देखकर आपका मन करेगा अपना शहर छोड़ यहाँ बस जाने को!

कुछ गाँव ऐसे है जो सुविधाओं में किसी शहर से कम नहीं है पर उनके मूल में वही भारतीय ग्रामीण संस्कृति बसती है। यह कुछ ऐसे गाँव है जो ना सिर्फ अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति में पूरी तरह से आत्मनिर्भर है, साथ ही मानव जाति व प्रकृति के बीच किस तरह अद्भुत सामंजस्य बनाया जा सकता है, इसकी मिसाल पेश करते हैं।

2017 में पद्म पुरस्कार पाने वाले 16 ऐसे नायक जिनसे आप अब तक अनजान रहे!

पद्म पुरस्कार उन लोगों का उत्सव है जो असल जिंदगी में किसी अभिनेता से कम नहीं और जिन्होंने अपनी जिन्दगी भारत के नाम कर दी। पद्म पुरस्कार भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है जो की कला और सामाजिक क्षेत्र से लेकर विज्ञान के क्षेत्र तक अलग-अलग क्षेत्र के लोगों को सम्मानित किया जाता है। इस साल ये कुछ ऐसे लोगों को दिया गया है जिन्होंने भारत के लिए बिना थके लगातार कार्य किया है पर आज तक उन्हे कोई पहचान नही मिली थी। यह कुछ ऐसे ही हीरोस की बात की गई है जो इस देश इस विश्व को एक बेहतर जगह बनाते हैं।

सेवा, सुरक्षा और भाईचारे के आदर्श को चरितार्थ करते SSB के जवान!

सशस्त्र सीमा बल भारत के केंद्रीय पुलिस सुरक्षा बल में से एक है। सालों से भारत-तिब्बत सीमा पर मुस्तैद भारतीय सशस्त्र सीमा बल के जवान न केवल देश पर मर मिटने का ज़ज्बा रखते है बल्कि वक्त पड़ने पर लोगों की सहायता कर, मानवता की मिसाल भी पेश करते हैं।

ओझा ने बताया था कि उनके बेटे में बुरी आत्मा है – और फिर शुरू हुई उनकी लड़ाई, इस अंधविश्वास के खिलाफ !

बिरुबाला - एक साठ-सत्तर साल की महिला। भारत के एक सबसे पिछड़े माने जाने वाले गाँव में रहनेवाली। बस नाम मात्र पढ़ी लिखी। आर्थिक तौर पर बेहद गरीब। और समाज की सताई हुई। पर समाज से अंधविश्वास मिटाने के लिए इस महिला ने जो करके दिखाया है उसकी आप कल्पना भी नहीं सकते। इन्द्राणी रायमेधी की लिखी और सेज (Sage) द्वारा प्रकाशित किताब 'माय हाफ of द स्काई' से लिए कुछ अंश से जाने भारत की इस वीरांगना की कहानी।