भारतीय वायुसेना में शामिल हुई पहली ३ महिला फाइटर पायलट से मिले!

१८ जून वैसे तो झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई का बलिदान दिवस है। लेकिन १८ जून 2016 को देश को ऐसी ही तीन “वीरांगनाओं” का तोहफा मिला। आज की सुबह अपने साथ अत्यंत गौरवशाली किरणें लेकर आई। ये किरणें भारत की उन बेटियों के नाम रहीं जो आने वाले समय में आसमान की ‘जांबाज’ बनने वाली हैं।