अतीत के अंधेरो को मिटाकर एक उज्जवल भविष्य की ओर बढ़ रहे है बाल सदन के बच्चे !

एक बच्चा जो बकरी के बाड़े में पाया गया, एक विधवा जिसके अतीत ने उसे मौन कर दिया, एक किशोरी जिसका व्यापार उसकी माँ एवं सौतेले बाप ने कर दिया – यह अनेकों उदाहरणो मे से कुछ उदाहरण है जिनका अतीत भले अंधकारमय रहा हो, किन्तु बाल सदन ने उन्हे अपने उज्ज्वल भविष्य का स्वप्न देखने की न सिर्फ हिम्मत दी, बल्कि उसे पूरा करने का संकल्प भी लिया |