यशपाल की कहानी : ‘अखबार में नाम’!

बचपन से ही गुरदास को अपना नाम अखबार में छपवाने की बड़ी इच्छा थी। किसी भी बहाने गुरदास अपना नाम अखबार में छपवाना चाहता था। उसकी ये इच्छा कैसे पूरी हुई, पढ़िए यशपाल की लिखी कहानी- 'अखबार में नाम' में!