इस गाँव के बच्चे स्कूल नहीं जाते थे, फिर एक दिन इन तीन लड़कियों ने सबकुछ बदल दिया!

ये कहानी उन तीन लड़कियों और उनके कभी न थकने वाले हौसले की हैं जिसने एक गाँव की शिक्षा व्यवस्था की पूरी तस्वीर ही बदल कर रख दी। ये गाँव उत्तर प्रदेश में वाराणसी के नजदीक है। इन लड़कियों ने ताने भी सुने और अपमान भी सहा पर अपनी लड़ाई जारी रखी। उनकी कोशिशों का ही नतीजा है कि आज इस गाँव के ९०% बच्चे प्रतिदिन स्कूल जाते हैं।

नेत्रहीन होते हुए भी कई दृष्टिहीन लोगों को राह दिखा रही है टिफ्फनी !

एक वक्त ऐसा था जब वो खुद चल नहीं सकती थी, पर आज वो दुसरो को चलना सिखा रही है। आईये मिलते है टिफ्फनी से, जो नेत्रहीन होकर भी बहुत दूर की दृष्टी रखती है।

अन्धविश्वास तोड़ने के लिए बिहार के इस मजिस्ट्रेट ने लिया एक अनोखा कदम!

जिस तरह शबरी के बेर खाकर भगवान् श्री राम ने बरसो पुरानी रुढ़िवादी परंपरा को मिटाया था, ठीक उसी तरह बिहार के एक मजिस्ट्रेट ने अंधविश्वास मिटाने के लिए एक विधवा के हाथो का बना खाना खाया और लोगो के सामने एक मिसाल खड़ी की।

अतीत के अंधेरो को मिटाकर एक उज्जवल भविष्य की ओर बढ़ रहे है बाल सदन के बच्चे !

एक बच्चा जो बकरी के बाड़े में पाया गया, एक विधवा जिसके अतीत ने उसे मौन कर दिया, एक किशोरी जिसका व्यापार उसकी माँ एवं सौतेले बाप ने कर दिया – यह अनेकों उदाहरणो मे से कुछ उदाहरण है जिनका अतीत भले अंधकारमय रहा हो, किन्तु बाल सदन ने उन्हे अपने उज्ज्वल भविष्य का स्वप्न देखने की न सिर्फ हिम्मत दी, बल्कि उसे पूरा करने का संकल्प भी लिया |

दिल्ली पुलिस की नयी ऐप पर आप घर बैठे लिखवा सकते है अपने वाहन के चोरी होने की रिपोर्ट

यदि आपका वाहन चोरी हो जाए तो न तो आपको पुलिस स्टेशन तक दौड़ने की ज़रूरत है और न ही एफ.आई. आर दर्ज़ करने के लिए अपनी बारी का इंतज़ार करने की। अब दिल्ली पुलिस के पास एक ऐप है जिसपर आप घर बैठे ही अपने वाहन के चोरी होने की इ- एफ.आई.आर दर्ज़ करा सकते है।

११ अद्भूत एप्स जो मोबाइल फोन के ज़रिए समाज सुधार रहे है

चाहे कृषिकर्म हो, चाहे आरोग्यता के क्षेत्र मे हो, मोबाइल फोन आज हज़ारों ग्रामीण भारतीयो का जीवन बदल रहा है. आइए ११ ऐसे एप्स के बारे मे जाने जो एक सकारात्मक बदलाव ला रहे है.