एसिड पीड़िता ने अपने नए जीवन की शुरुआत की तो पूरे सोशल मीडिया ने दिया उनका साथ!

हाल ही में हुमंस ऑफ़ इंडिया नामक एक फेसबुक पेज पर एक नवविवाहिता की तस्वीर सामने आई, जो प्यार की परिभाषा नए सिरे से लिख रही है।

गाँव की एक बेटी की शादी के लिए पूरा गाँव ही बैंक की कतार में खड़ा हो गया!

कोल्हापुर के याल्गुड गाँव के रहने वाले संभाजी बगल के परिवार में ख़ुशी का माहौल था। हर कोई अपने-अपने कामो में व्यस्त था। आखिर घर की बेटी, सयाली की शादी में दिन ही कितने बचे थे। पर अचानक 8 नवम्बर की रात को मानो ये सारा ख़ुशी का माहौल मातम में बदल गया हो।

साइकिल पर महीनो भटककर आखिर इस पति ने ढूंड निकाला अपनी मानसिक रूप से बीमार पत्नी को!

40 वर्षीय तपेश्वर के पास अपनी गुमशुदा पत्नी को ढूंढने के लिए केवल एक साईकिल थी। वे अपनी पत्नी कोइसी साइकिल पर खोजते रहे, एक जगह से दूसरी जगह, जहाँ भी कोई नामो-निशान मिलता तपेश्वर वहीं पहुँच जाते।