कभी 40 कम्पनियों से नकारे गए थे ये इंजिनियर; आज हैं एक सफल स्टार्ट अप के मालिक!

'पढ़ेगा इंडिया' साउथ दिल्ली में सेकेण्ड हैण्ड किताबें ऐसे लोगों तक पहुंचा रहा है जिनके पास महँगी किताबें खरीदने की क्षमता और दुर्लभ किताबों तक पहुँच नहीं है.

दिल्ली के स्ट्रीट फ़ूड को कुछ इस तरह सुरक्षित बना रही है ये संस्था!

क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है, कि राह चलते किसी स्ट्रीट फ़ूड पर नज़र पड़ते ही आपकी भूख बढ़ गयी हो, पर आपने उस ठेले वाले के गंदे हाथ देखकर अपना इरादा बदल लिया और आगे बढ़ गए हों? ऐसी परेशानी से यह दुकानवाले अक्सर गुज़रते हैं, और इसी को दूर करने के लिए ' वन रूपी फाउंडेशन' नाम की संस्था ने इन लोगो में दस्ताने (gloves) बांटने की मुहीम चलायी है।

दिल्ली के फिरोज़ शाह कोटला का ये गुप्त खंडहर आज भी है लोगो की उम्मीद की वजह !

हर गुरूवार, फिरोज़ शाह कोटला का यह खँडहर वापस जीवित हो जाता है। लोग इस दिन अपनी छुपी हुई इच्छाएं यहाँ के वासी- जिन्नों को बताने के लिए दूर दूर से आते हैं।

दिल्ली के मंगोलपूरी इलाके में सेफ हाउस की मदद से अब महिलायें है बिलकुल सुरक्षित !

अगर आप दिल्ली के मंगोलपूरी इलाके से गुजरेंगे तो आपका ध्यान इस बात पर ज़रूर जायेगा कि यहाँ की महिलाएं किस तरह बेखौफ घर से बाहर निकलती है। उन्हें किसी भी प्रकार के उत्पीड़न या परेशानी का डर नहीं सताता। पूरा इलाका सेफ-हाउस मैकेनिज्म (सुरक्षित-घर युक्ति) से वाकिफ है जिससे महिलाएं उत्पीड़न से सुरक्षित रहती है।