इस व्यक्ति की मदद से बिना बिजली बिल भरे आप वातानुकूलित घर में रह सकते हैं!

दिनेश के इस नए घर ने शुन्य से सौर ऊर्जा का इस्तेमाल किया है और इसके लिए इन्हें एक बार भी अस्थायी बेस्कॉम कनेक्शन लेने की आवश्यकता नहीं पड़ी।

नकली नोटों के झांसे से बचे; ऐसे पहचाने नए 2000 व 500 के असली नोटों को!

हम आपके लिए लाए हैं कुछ ऐसी जानकारी जिससे आप पता लगा सकते हैं कि आपके हाथ में जो नोट हैं वह असली है या नकली।

एक ऐसा बाज़ार जहाँ अब आप आधार कार्ड दिखाकर सब्जियां खरीद और बेच सकते है!

500 और 1000 के नोट बंद होने के दस दिनों बाद भी लोगो की परेशानी दूर होती नज़र नहीं आ रही है। लोगों को रोज़मर्रा के ज़रूरत का सामान खरीदने में भी दिक्कत हो रही है। पर वहीँ हैदराबाद के कूकटपल्ली रायतू बाजार में माहौल कुछ और ही है। यहाँ ग्राहकों ने करीब 15000 की सब्जियां खरीदी है।पर इस बाज़ार में खरीदारी के लिए लोगों को न पुराने नोट बदलने की चिंता करनी पड़ी और न ही नए नोट न होने की वजह से परेशान होना पडा क्यूंकि यहाँ सब्जियां नोटों से नहीं आधार कार्ड से खरीदी गयी।

कहीं आप डिजिटल उपकरणों की लत के शिकार तो नहीं? जानिए और बचिए।

हम डिजिटल युग के जीव हैं। आभासी दुनियां हमारी जमीन है और इंटरनेट हमारी सांसे! टेक्नोलॉजी हमारे हाथ पैर बन गई है और स्मार्टफोन दादी-नानी की कहानियों वाले राजा का तोता। वो तोता जिसमें राजा की जान बसती थी। जो भी राजा को हानि पहुचाना चाहता था उसे उस राजा से युद्ध की आवश्यकता नहीं होती थी, वो तो बस उस तोते की खोज में लग जाता था।

पिता का अंतिम संस्कार करने आ रहे बेटे को वीसा दिलाने के लिए सुषमा स्वराज ने राजकीय छुट्टी पर भी खुलवाया दूतावास!

एक माँ की ट्विटर पर गुहार पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अमरीका में भारतीय दूतावास को छुट्टी वाले दिन भी खोलने की हिदायत दी तथा उस माँ के बेटे को वीसा दिलवाया ताकि वो अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए आ सके!

छुट्टे पैसे के बदले टॉफी नहीं; ग्रामीण छात्राओं की मदद करने का मौका देगा ये एप!

क्या आप दुकानदार से छुट्टे पैसो की बजाय चोकलेट दिये जाने से परेशान है? अब कुछ ही दिनों में आप छुट्टे पैसे ग्रामीण इलाके में पढने वाली लडकियों के शिक्षा के लिये दे सकते है। इस तरह का मोबाइल एप स्कूल में पढने वाली विद्यार्थीयो ने विकसित किया है।

मोबाइल ऐप से अब सस्ते किराये पर कृषि यन्त्र ले सकेंगे कर्नाटक के किसान !

कृषि में भी अब टेक्नोलोजी के प्रयोग को बढ़ावा मिल रहा है। टेक्नोलोजी के प्रयोग से अन्नदाता के लिए आसानी से सुविधाएँ मुहैया कराने से पैदावार तो बढ़ ही रही है, साथ ही खेती की तरफ युवा पीढ़ी के जुडाव की उम्मीदें भी बढ़ रही हैं। ऐसे ही एक प्रयोग के माध्यम से कर्नाटक सरकार राज्य के किसानों को सस्ती दर पर कृषि यन्त्र मुहैया कराने की योजना पर काम कर रही है।

तीन दशको बाद भारतीय वायुसेना में शामिल हुआ देश में निर्मित ‘तेजस’ !

'तेजस' स्वदेश-निर्मित लड़ाकू विमान है। दुनिया के कुछ ही देश हैं जो खुद लड़ाकू विमान बनाते हैं। इसका निर्माण एयरोलॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (ADA) और हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने मिलकर किया है।

विदेश में पढ़ रही दो भारतीय छात्राएं, मोबाइल फ़ोन के ज़रिये मुफ्त में सीखा रही है अंग्रेजी !

शिक्षा में एक छोटा सा बदलाव पीढियां बदल देता है। पर भारत में ज्यादातर अशिक्षित लोग आर्थिक कारणों से स्कूल छोड़ देते हैं और जाहिर है कि स्कूल छूटने के बाद पढ़ाई भी छूट जाती है। वही वक्त की मांग कुछ ऐसी है कि शहरों में रिक्शा चालक से लेकर छोटे-छोटे काम करने वालों तक अंग्रेजी बोलना और समझना सबके लिए जरुरी हो गया है। लेकिन इन्हें सिखाने का जिम्मा कौन उठाये? सिर्फ अंग्रेजी सीखने के लिए स्कूल वापस जाना इनके लिए संभव नहीं है और न ही कोचिंग क्लासेस की महँगी फीस देना। ऐसे में दो अंडरग्रेजुएट लडकियों की एक पहल, इनकी ज़िंदगी में रौशनी भर रहा है।

जानिये कैसे आम सेवा केंद्र ग्रामीण क्षेत्रों में ई-गवर्नेंस की क्रांति ला रहे हैं !

समूचे देश में ऐसे ग्रामीणों की संख्या बढती जा रही है जो आम सेवा केन्द्रों पर जाकर सरकारी दफ्तरों की लम्बी लाइन से बच रहे हैं। ये आम सेवा केंद्र ई-गवर्नेंस के केन्द्रों की तरह काम करते हैं।

निष्पक्ष और सटीक खबरे पढने के लिए इस एप को डाउनलोड करे !

यदि आप UPSC या किसी भी ऐसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है जिसमे सामान्य ज्ञान का बहुत महत्त्व है या फिर आप उनमे से है जिन्हें मिर्च मसाला लगायी हुई सनसनीखेज खबर नहीं बल्कि असली समाचार से मतलब है तो आपको तुरंत एक एप अपने फ़ोन में डाउनलोड कर लेना चाहिये – CivilsDaily !

आई आई टी खडगपुर के छात्रों ने बनायी, विकलांगो की सहूलियत के लिए बिना ड्राईवर की बाइक!

जो लोग विकलांग होने के कारण स्टीयरिंग या पेडल नहीं चला सकते, उनके लिए साइकिल स्टेशन बनाने के लिए और वातावरण के मसलों को सुलझाने के लिए आई आई टी खड़गपुर के छात्रों ने बिना ड्राईवर की बाइक बनाई है। आइये इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

सरकारी स्कूल के एक शिक्षक ने बनाया शिक्षा का अनोखा मॉडल!!!

जिला परिषद् के एक सामान्य स्कूल को एक नौजवान शिक्षक ने अपनी मेहनत से डिजिटल स्कूल में परिवर्तित किया है। इस स्कूल से प्रेरित होकर महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के ५०० स्कूलो को डिजिटल बनाने का फैसला किया है।

मिलिए, ट्विटर के ज़रिये यात्रियों तक मदद पहुँचाने वाली रेल मंत्रालय की टीम से !

ट्विटर के जरिए रेल यात्रियों की मदद की खबरे आजकल सुर्खियां बन रही हैं। क्या कभी आपने सोचा है कि यह कैसे संभव हो पाता है और इतने दिनों से इसे सफलता पूर्वक संचालित करने की क्या प्रक्रिया है, और इसके लिए कौनसे अधिकारी इतनी तत्परता से काम कर रहे है?

बुजुर्गो को टेक्नोलॉजी से जोड़कर, दूर कर रहे है उनका अकेलापन, स्कूल के ये दो छात्र!

श्री राम स्कूल, मौस्लारी, गुडगाँव के दो छात्रों ने कुछ वालंटियर्स के साथ मिल कर एक ऐसा स्कूल प्रोजेक्ट शुरू किया जो समाज के एक ऐसे वर्ग के चेहरे पर मुस्कान ला रहा है, जिन्हें भाग दौड़ की ज़िन्दगी में अमूमन नज़र अंदाज़ कर दिया जाता है।