अपने ऑनलाइन सेवा के ज़रिये दिल्ली पुलिस ने वाहन के चोरी होने पर एफ.आई.आर दर्ज़ कराने की प्रकिया को बेहद सरल बना दिया है।

अब यदि आपका वाहन चोरी हो जाए तो न तो आपको पुलिस स्टेशन तक दौड़ने की ज़रूरत है और न ही एफ.आई. आर दर्ज़ करने के लिए अपनी बारी का इंतज़ार करने की। अब दिल्ली पुलिस के पास एक ऐप है जिसपर आप घर बैठे ही अपने वाहन के चोरी होने की इ- एफ.आई.आर दर्ज़ करा सकते है।

इस ऐप का सुझाव दिल्ली पुलिस कमिशनर बी.एस बस्सी द्वारा जुलाई २०१४ में दिया गया था।और अब यह ऐप दिल्ली पुलिस की वेबसाइट पर उपलब्ध है।
दिल्ली पुलिस अपनी गुणवत्ता बढ़ाने हेतु सदयेव कुछ न कुछ नया अपनाने की कोशिश में लगी रहती है।

 कमिशनर बी.एस बस्सी

कमिशनर बी.एस बस्सी

दिल्ली पुलिस की यही कोशिश रही है की नए नए उपकरणों तथा सुझावो के माध्यम से हम जनता की परेशानियां दूर कर सके।वेबसाइट के हवाले से-

एमवी थेफ्ट इ- एफ.आई.आर की मदत से अब दिल्लीवासी अपने घर, दफ्तर या किसी भी जगह से लॉग इन करके अपने वाहन के खोने की रिपोर्ट लिखा सकते है।

14393637702_b71d7a75f5_k

Photo: Eric Parker/Flickr

इस ऐप पर शिकायत करने वाले का नाम, माता/पिता का नाम, ईमेल एड्रेस, वाहन खोने की जगह तथा समय जैसे विवरण देने होंगे। इसके अतिरिक्त खोये हुए वाहन की भी पूरी जानकारी देना अनिवार्य है। इसके बाद शिकायतकर्ता को एफ.आई.आर की एक प्रति मिलेगी जिसे वे डाउनलोड कर सकते है। इसकी एक एक प्रति एरिया पी.सी.आर तथा एरिया एस.एच.ओ को भेजने के साथ दिल्ली के सभी एस.एच.ओ तथा भारत के सभी एस.एस.पी को भी भेजा जायेगा।
खोये हुए वाहन का विवरण ZIPNET पर भी अपलोड किया जाएगा और स्टेट ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी तथा स्टेट नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो को भी दिया जायेगा। यदि खोया हुआ वाहन पुलिस के पास जब्त वाहनों में से किसीसे मेल खा गया तो इसके बारे में शिकायतकर्ता को अलर्ट भेज दिया जायेगा।
यह ऐप ढूंढे हुए वाहनों का भी हिसाब रखेगा।

दिल्ली पुलिस ने एक और बहोत कारगर ऐप बनायीं है जिसका नाम है लॉस्ट रिपोर्ट। इस ऐप के ज़रिये आप अपने खोये हुए दस्तावेज़ों की शिकायत आसानी से करा सकते है।

Screen-Shot-2015-08-13-at-12.24.42-pm

Screen-Shot-2015-08-13-at-12.24.30-pm

 

लॉस्ट रिपोर्ट एप डाउनलोड करने के लिए  यहाँ क्लिक करे .

वाहन चोरी होने की ई- एफ आई आर यहाँ दर्ज़ कराए .

 मूल लेख – श्रेया पारीक 
 

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.