29 साल के जितेन्द्र छत्तर  हरियाणा के जिंद में रहनेवाले एक किसान हैं। समाज की धारणा को ठुकराते हुए उन्होंने एक रेप पीड़िता से शादी करने का निर्णय लिया। अब वे अपनी पत्नी की न्याय पाने की लड़ाई में भी उनका बखूबी साथ निभा रहे हैं। जितेन्द्र ने अपनी पत्नी का दाखिला एक लॉ स्कूल में करा दिया है जिससे वो अपनी लड़ाई खुद लड़ सकें।

 

जितेन्द्र ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, “अब वो खुद वकील के तौर पर न्यायिक सेवा में हिस्सा ले सकती हैं और दूसरे रेप पीडितों की मदद कर सकतीं हैं। हमने इस काम के लिए ‘यूथ अगेन्स्ट रेप्स’ नामक एक मंच की शुरुआत कर दी है।“

 

जितेन्द्र आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री की दखल चाहते हैं।

 

जब जीतेन्द्र के घरवालो ने शादी का प्रस्ताव रखा था तभी उनकी पत्नी ने उन्हें अपने साथ हुए हादसे के बारे में सब कुछ बता दिया था।

bride

 

उनकी पत्नी यह चाहती थी कि जीतेन्द्र कहीं और शादी कर ले क्यूंकि उनसे शादी करके नाहक ही जीतेंद्र के परिवार को सामाजिक विरोध का सामना करना पड़ता। पर सच्चाई जानने के बाद भी जीतेंद्र और उनके परिवारवालों ने अपना फैसला नहीं बदला।

 

जिंद के ही रहने वाले नीरज ने चार लोगों के साथ मिलकर उनका रेप किया था। आरोपियों में एक महिला भी शामिल है। जब जितेन्द्र के परिवार वालों ने यह रिश्ता मंजूर कर लिया तो उन्होंने जितेन्द्र को सच्चाई बताने का फैसला किया।

 

उन्होंने TOI को बताया, “सगाई के बाद से हम वकील से बातचीत या कोर्ट के अलावा कभी इस केस की चर्चा नहीं करते हैं।  मैं और मेरा परिवार इस लड़ाई में साथ निभाने के लिए जितेन्द्र के शुक्रगुजार हैं। जितेन्द्र को खुद भी कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उन पर आरोपियों ने कई झूठे मुकदमे कर दिये हैं।”

 

जितेन्द्र और उनका परिवार पूरे समाज के लिए एक मिसाल है तथा इस बात का सूचक है कि हमारी आनेवाली पीढी बिलकुल सही दिशा में आगे बढ़ रही है।

मूल लेख – ऐश्वर्या भत्कल

यदि आपको ये कहानी पसंद आई हो या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें [email protected] पर लिखे, या Facebook और Twitter (@thebetterindia) पर संपर्क करे।

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.