अक्षय कुमार के इंस्टिट्यूट की छात्रा ने छेड़खानी करने का प्रयास करने वाले गुंडे से अकेले ही न सिर्फ लोहा ले लिया बल्कि उसे अपने सामने गिडगिडाने पर भी मजबूर कर दिया।

पिछले हफ्ते, शाम के 6:30 बजे घर लौटते वक्त श्रेया नाइक का सामना एक गुंडे से हुआ। 19 वर्षीय श्रेया अपनी इंटर्नशिप कर उस वक़्त घर लौट रही थी जब उसे एहसास हुआ कि कोई उसका पीछा कर रहा है।

मिड डे को श्रेया ने बताया, ” वह अचानक मेरे करीब आया और मुझपर झपट पड़ा। एक हाथ से मैं उसे मारने की कोशिश कर रही थी और दुसरे हाथ से अपनी मम्मी को फ़ोन कर घर के नीचे बुलाने का प्रयास कर रही थी जो वहां से 30 सेकंड की दूरी पर था। वह मुझसे फ़ोन छीनने का प्रयास करता रहा जिस से मैं किसी से संपर्क न कर पाऊं।”

श्रेया उन अनेक महिलाओं में से एक हैं, जिन्होंने विमेंस सेल्फ डिफेन्स सेंटर से आत्मरक्षा की तकनीक सीखी है। यह सेंटर अक्षय कुमार और आदित्य ठाकरे द्वारा स्थापित किया गया है जहाँ महिलाओं को आत्मरक्षा के लिए मुफ्त ही मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दी जाती है।

12-Shreya-Naik

यह यहाँ की ट्रेनिंग का ही परिणाम था कि श्रेया एक अपराधी से लोहा ले पायीं। वे बताती हैं, “मैंने उसके बालों को पकड़ा और उसे एक “हैमर” दिया, एक ऐसा आक्रमण जिसकी ट्रेनिंग मुझे सेंटर में दी गयी थी। वह मेरे आगे गिड़गिड़ाने लगा और छोड़ने का आग्रह करते हुए कहने लगा, ‘ बस हाथ ही लगाया और क्या किया…’ मैंने उसका गिरेबान पकड़ा और उसे मेन रोड की ओर घसीटने लगी। वह भागने की लगातार कोशिश कर रहा था पर मैंने उसे मजबूती से पकड़ रखा था। कुछ देर में वह कुछ लोग मेरी मदद को आ गए और किसी ने पुलिस को भी बुला लिया था। 10- 15 मिनट के अन्दर ही पुलिस आ गयी और उसे गिरफ्तार कर लिया।”

श्रेया ने सेंटर जा कर उसके भीतर यह आत्मविश्वास भरने के लिए उन लोगों को धन्यवाद् किया। वे कहती हैं, ” मैं एक कमज़ोर व्यक्ति थी जो किसी के छु लेने से भी डर जाती थी और आवाज़ उठाने या शिकायत करने की हिम्मत नहीं जुटा पाती थी। पर सेंटर में हमें इस प्रकार की ट्रेनिंग दी जाती है जिस से आत्मविश्वास बहुत बढ़ जाता है। मैं अक्षय सर की बहुत आभारी हूँ जिन्होंने हमें खुद का ख़याल रखने के काबिल बनाया। मेरे परिवार वाले पुलिस में शिकायत करने के पक्ष में नहीं थे क्यूंकि वे मुझे ले कर चिंतित थे, पर मैंने शिकायत की और आज इस पर बात भी इसलिए कर रही हूँ ताकि दूसरी महिलाओं को प्रेरणा मिले और वे भी आत्म रक्षा की तकनीक सीख खुद को सुरक्षित रख पाएं।”

विमेंस सेल्फ डिफेन्स सेंटर में महिलाओं को अक्षय कुमार द्वारा ट्रेनिंग प्राप्त करते हुए देखें :

मूल लेख – आनंदिता जुमडे

यदि आपको ये कहानी पसंद आई हो या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें contact@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter (@thebetterindia) पर संपर्क करे।

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.